अनियमित ब्रेकिंग : आजादी के 75वें साल पूर्ण होने के बाद भी प्रदेश के 180000 अनियमित कर्मचारी का नियमितिकरण नहीं, आज भी हैं गुलाम – The News Ocean






न्यूज़ ओशन ब्यूरो। रायपुर। गोपाल प्रसाद साहू प्रांतीय संयोजक, ने बताया कि छत्तीसगढ़ संयुक्त अनियमित कर्मचारी महासंघ के प्रांतीय/जिला/विकासखंड पदाधिकारियों एवं विभिन्न अनियमित संघों की बैठक 14 मई 2022 को रायपुर में आयोजित किया गया था| तथा कांग्रेस सरकार वादा खिलाफी पर 3 जून को चेतावनी सभा का आयोजन कर माननीय मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंप कर समय-सीमा में प्रदेश के अनियमित कर्मचारियों को नियमित करने कार्यवाही करने चेताया गया तथा सरकार द्वारा किसी प्रकार की कार्यवाही नहीं करने पर 1 सितम्बर 2022 से पूर्ण कामबंदी के साथ अनिश्चित कालीन आन्दोलन घोषणा की गई है।

श्री रवि गडपाले प्रांतीय अध्यक्ष एवं श्रीमती भगवती शर्मा तिवारी अध्यक्ष महिला विंग छत्तीसगढ़ संयुक्त अनियमित कर्मचारी महासंघ ने कहा कि हम सरकार को चेतावनी दिए है क्योंकि कांग्रेस पार्टी का 10 दिन में नियमितीकरण का वादा जो साढ़े 3 साल में भी पूरा नहीं हुआ। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का वादा 1 साल बाद नियमितीकरण करेंगे, जो आज तक पूरा नहीं हुआ। पिछले 3 साल में नियमितीकरण के लिए गठित कमेटी की रिपोर्ट पूरी नहीं हुई है। पिछले 3 साल में सरकार कर्मचारियों का डाटा इकट्ठा नहीं कर पाई है। पिछले तीन विधानसभा सत्र में मुख्यमंत्री द्वारा नियमितीकरण की बात स्वीकार की गई लेकिन वादा आज भी अधूरा है। आउटसोर्सिंग बंद नहीं हुआ। सरकार ने कर्मचारियों को मिलने वाला वेतन वृद्धि भी रोक दिया गया है। दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी को हटा कर ठेका में रखा जा रहा है,घोषणा पत्र में छटनी नहीं करने का वादा था लेकिन कई विभागों से छटनियां कर दी गई है।

प्रेमप्रकाश गजेन्द्र प्रांतीय उपाध्यक्ष, सचिन शर्मा कार्यकारी अध्यक्ष, सुदेश यादव, भूपेंद्र साहू, संजय ऐडे, रेणु सिंह राजपूत,कृष्णा यादव,भूपेंद्र वर्मा, श्रीश तिवारी, चंद्रभूषण पटेल,संतोष पांडे,राम बाबू शुक्ला, सुदर्शन मंडल गोविंद राम महंत, सौरभ मिश्रा ने अवगत कराया की वर्तमान सरकार की असंवेदनशीलता ने हमें आन्दोलन करने मजबूर कर रहे है 15 अगस्त को प्रदेश के 180000 अनियमित कर्मचारियो को माननीय मुख्यमंत्री जी के प्रदेश के नाम भाषण पर बहुत उम्मीद था लेकिन आजादी के 75 साल पूरा होने के बाद भी आज छत्तीसगढ़ के 180000 अनियमित कर्मचारी ठगा महसूस कर रहे है एवं आपके माध्यम से समस्त अनियमित कर्मचारियों एवं अनियमित संगठनो से अपील है 1 सितम्बर 2022 से पूर्ण कामबंदी के साथ अनिश्चित कालीन आन्दोलन में सम्मिलित होने मानसिक एवं आर्थिक रूप से अपने-आप को तैयार रखें, 1 सितंबर से होने वाला अनिश्चित कालीन आंदोलन होगा आर या पार का आंदोलन होगा इस बार अनियमित से आजादी लेकर रहेंगे।