अस्पताल की लापरवाही, महिला की डिलीवरी के बाद कर दी ये हालत…



 

राजनांदगांव।  राजनांदगांव के डीएनए अस्पताल में गंभीर लापरवाही सामने आई है। आरोप है कि छुरिया ब्लॉक के ग्राम घुपसाल निवासी एक गर्भवती महिला डीएनए अस्पताल डिलीवरी कराने पहुंची तो उसका गलत ऑपरेशन कर मलद्वार और मूत्रद्वार की नली को जोड़ दिया गया। अब पीड़ित महिला और उसके परिजन इलाज के लिए रायपुर के एक अस्पताल के चक्कर काट रहे हैं। इस संबन्ध में पीड़िता के परिजनों ने कलेक्टर से भी शिकायत की है।

बता दें कि  पीड़िता के पति भीखम कुमार उइके ने बताया कि- ग्राम घुपसाल निवासी ममता उइके को 27 अगस्त को लेबर पेन होने पर भदौरिया चौक के पास स्थित डीएनए अस्पताल में 12 बजे भर्ती कराया गया। शुरुआत में नार्मल डिलीवरी की बात कही गई लेकिन बाद में डॉक्टर्स ने ऑपरेशन करने के लिए गुमराह कर दिया।

28 अगस्त को ममता उइके का ऑपरेशन किया गया और 30 अगस्त को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया। इसके बाद घर पहुंचने पर पीड़िता के शरीर से मल और मूत्र एक जगह से ही निष्काषित होने लगा। इस समस्या के बारे में जब हमने अस्पताल में बताया तो फिर से ऑपरेशन किया गया। मल के निष्कासन के लिए पीड़िता के शरीर में पाइप लगा दिया गया और उसके माध्यम से मल का निष्कासन किया जा रहा है। इसके बाद आगे के इलाज के लिए हमें रायपुर स्थित रामकृष्ण अस्पताल भेज दिया गया। जहां हमें रेग्युलर इलाज के लिए जाना पड़ता है। इस पूरी प्रक्रिया में अब तक 2 लाख रुपये खर्च हो चुके हैं। हमारी शासन से मांग है कि अस्पताल को सील बंद करने की कार्रवाई की जाए।