इंदौर में 3 दिवसीय होलिस्टिक मेडिसिन पर अंतर्राष्ट्रीय कोंफ्रेंस व कान्वोकेशन में



रायपुर। इंदौर में 3 दिवसीय होलिस्टिक मेडिसिन पर अंतर्राष्ट्रीय कोंफ्रेंस व कान्वोकेशन में रायपुर छ.ग. के डाक्टर रमेश कुमार सोनसायटी ( एक्युप्रेशर विशेषज्ञ) को डायमंड मेडल अवार्ड से सम्मानित किया गया। विश्व विख्यात व अनेको पुरुस्कारों से अलंकृत अपनी विभिन्न वैकल्पिक चिकित्साओ के 50 वर्षिय सेवाओं को प्रदान करने वाले अनेको असाध्य रोगों का उपचार कर उन्हें पूर्ण रूप से ठीक करने वाले डाक्टर सुधीर खेतावत द्वारा 3 दिवसीय होलिस्टिक मेडिसिन पर अंतर्राष्ट्रीय कोंफ्रेंस व कन्वोकेशन का शुभारंभ मध्यप्रदेश में देश के सबसे स्वच्छ शहर इंदौर में किया गया

जिसमें वैकल्पिक चिकित्साओ पर 55 से अधिक रिसर्च पेपर पढ़े गए ओर उन्होनें अपने अनुभव साझा किये कोंफ्रेंस में पूरे देश विदेश से पधारे वैकल्पिक चिकित्सको को उनके क्षेत्र में किये गये ऊत्तम कार्यों के लिये इंदौर इंस्टीटयूट ऑफ होलिस्टिक मेडिसिन द्वारा विभिन्न अवार्ड से सम्मानित किया गया

रायपुर छ.ग से डा रमेश कुमार सोनसायटी (एक्युप्रेशर विशेषज्ञ) को उनके द्वारा पीड़ित मानवता के क्षेत्र में पिछ्ले 25 वर्षो से अपनी उत्कृष्ट सेवायें देने व उनके कार्यों से प्रभावित होकर इस चिकित्सा पद्धति का उच्चतम सम्मान डायमंड मेडल से सम्मानित किया गया
अवार्ड सेरेमनी की मुख्य अतिथि थी ओपन इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी कोलंबो ( श्रीलंका) की कुलपति प्रो डा.मास्टर मेहर मूस जी ओर विश्वविख्यात डा. सुधीर खेतावत जी ( निदेशक- इंस्टीटयूट ऑफ होलिस्टिक मेडिसिन- इंदौर )

कोंफ्रेंस में एक्युप्रेशर, सुजोक,सम्मोहन, कलरथेरेपी,रेकी,एक्यूपंक्चर, पास्ट लाईफ रिग्रेशन थेरेपी ,औरा हीलिंग,साउन्ड हीलिंग,योग निंद्रा, होपोनोपोनो, प्राकृतिक चिकित्सा,थ्री फिंगर टेक्नीक सहित कई अन्य विधाओ के विशेषज्ञों द्वारा शोध पत्र प्रस्तुत किये गये।लगभग 350 चिकित्सकों की कोंफ्रेंस में करीब 150 से अधिक चिकित्सकोंको अपने क्षेत्र में कर रहे उत्कृष्ट कार्यो के लिये सम्मानित किया गया।

इस तीन दिवसीय कोंफ्रेंस में अतिथियों के रुप में मुख्य रूप से ओपन इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी कोलंबो ( श्रीलंका) की कुलपति प्रो डा.मास्टर मेहर मूस, सेवा निवृत डा. एम मुर्ति ( परमाणु वैज्ञानिक) हैदराबाद,श्री मनीष कपूरिया( उपायुक्त पुलिस इंदौर) डा. मन्जु भंडारी (कुलाधिपति श्री औरविंदो यूनिवर्सिटी इंदौर)डा. ज्योति बिन्द्ल ( कुलपति श्री औरविन्दो यूनिवर्सिटी इंदौर)डा. देबसीस मलिक ( निदेशक प्रेस्टीज यूनिवर्सिटी इंदौर) मेजर जनरल( रिटायर्ड) डा. एम पी सिंग जी,रियर एडमिरल ( रिटायर्ड ) हीलर श्री राकेश पण्डित आदि थे

इस कोंफ्रेंस व कन्वोकेशन को गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज किया गया है जिसका सर्टीफिकेट श्री मनीष विश्नोई ( गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के एशिया हेड) द्वारा डाक्टर खेतावत जी को सौपा गया। लगभग 50 से भी अधिक वैकल्पिक चिकित्साओ के दिग्गजो का एक साथ एक मंच पर होना व उनके द्वारा किये गये अपने क्षेत्र में अद्भूत व अद्वितीय कार्यो का विवरण एक अद्भूत एहसास करा रहा था