कटघोरा : सिंधी समाज ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम SDM को सौंपा ज्ञापन.. चेट्रीचंड पर शासकीय अवकाश घोषित करने की रखी मांग.



कोरबा/कटघोरा 22 नवम्बर 2022 ( सेंट्रल छत्तीसगढ़ ) : सिंधी समाज के आराध्य भगवान झूलेलाल के जन्मोत्सव को चेट्रीचंड के रूप में मनाया जाता है। इस दिन शासकीय अवकाश देने की मांग कटघोरा पूज्य सिंधी पंचायत ने की है। छत्तीसगढ़ के कई जिलों के सिंधी समाज के लोगों ने मुख्यमंत्री के नाम अनुविभागीय अधिकारी कौशल प्रसाद तेंदुलकर को ज्ञापन सौंपा है। कटघोरा सिंधी समाज अध्यक्ष रमेश वाटवानी ने महापर्व भगवान झूलेलाल के अवतरण दिवस चेट्रीचंड पर समाज के लोगों से अपने प्रतिष्ठान बंद रखने की भी अपील की गई है।

पिछले कई सालों से सिंधी समाज के लोग राज्य सरकार से लगातार इस मांग को करते आ रहे हैं। सिंधी समाज के अध्यक्ष ने बताया की ब्रिगेड के प्रदेशाध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी के निर्देशानुसार प्रदेश के 16 जिलों के अध्यक्षों ने अपने अपने जिलों में कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर शासकीय अवकाश की मांग कर चुके है। गौरतलब है कि हिन्दू संवत्सर के चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि पर भगवान झूलेलाल का उत्सव देश भर में धूमधाम से मनाया जाता है।

प्रदेश में भी इसे हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। सभी जिलों में इस दिन शोभायात्रा निकाली जाती है। पिछले दो साल कोरोना के चलते, कहीं भी शोभायात्रा नहीं निकाली गई थी। इस साल विशेष उत्साह दिखाई दे रहा है। संघ का कहना है कि यदि हमारी इस मांग को पूरा नहीं किया जाता है, तो संगठन द्वारा प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं राज्यपाल से मुलाकात कर इस मांग को रखा जाएगा।

ज्ञापन सौंपने वालों में कटघोरा पूज्य सिंधी पंचायत अध्यक्ष रमेश वाटवानी, सचिव सुनील दुहलानी, भोजराम वाटवानी, राम मोटवानी, श्याम दुहलानी, लक्क़ी दुहलानी, रतन चिजवानी, पंकज दुहलानी, लक्क़ी अलवानी, मनोज वाधवानी, श्याम परसवानी, सुमित दुहलानी, रॉकी जगवानी, विजय कुमार चावला, रवि आहूजा, मनीष दुहलानी, छंगू दुहलानी, मोहन नागवानी, अनुराग दुहलानी व सिंधी समाज को लोग उपस्थित रहे।