कलेक्टर औचक निरीक्षण पर पहुंचे जिला चिकित्सालय, मरीजों से बात कर व्यवस्थाओं पर लिया फीडबैकडॉक्टरों, नर्स तथा स्टाफ की अब बॉयोमेट्रिक से होगी उपस्थिति, कलेक्टर



कलेक्टर ने तत्काल व्यवस्था करने के दिए निर्देश,उपस्थिति पंजियों का जांच कर बिना सूचना के अनुपस्थित पाए जाने वालों पर वेतन कटौती की हुई कार्रवाईसिविल सर्जन तथा अस्पताल सलाहकार को 1 सप्ताह के भीतर व्यवस्था सुधारने के दिए कड़े निर्देश
कोरिया 05 नवम्बर 2022/
कलेक्टर श्री विनय कुमार लंगेह आज स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लेने जिला चिकित्सालय के औचक निरीक्षण में पहुंचे। इस दौरान उन्होंने ओपीडी, एसएनसीयू, ऑपेरशन वार्ड, एनआरसी, दवा वितरण केंद्र, सोनोग्राफी कक्ष, प्रसव एवं जांच कक्ष, दवा भण्डार केंद्र, डायलिसिस रूम, ब्लड बैंक, किचन आदि का अवलोकन किया।उन्होंने उपस्थित चिकित्सकों तथा स्टाफ से आवश्यक व्यवस्थाओं के सम्बंध में जानकारी ली तथा मानव संसाधन, आवश्यक उपकरणों, मशीनों की पर्याप्त उपलब्धता पर चर्चा करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस दौरान जिला पंचायत सीईओ श्रीमती नम्रता जैन उपस्थित थीं।

निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने दवा वितरण केंद्र तथा भण्डार कक्ष में दवाइयों के स्टॉक की जांच करते नियमित एंट्री किए जाने के निर्देश दिए, उन्होंने कहा कि ओपीडी सिस्टम अपडेट रखें। पोषण पुनर्वास केन्द्र का अवलोकन करते हुए उन्होंने बेड ऑस्क्यूपेंसी बढ़ाने के निर्देश दिए। किचन जांच के दौरान कलेक्टर ने भोजन गुणवत्ता के साथ साफ- सफाई पर विशेष ध्यान देने निर्देशित किया।

इलाज हेतु आए मरीजों से कलेक्टर ने बात कर व्यवस्थाओं पर लिया फ़ीडबैक

निरीक्षण के दौरान कलेक्टर श्री लंगेह ने इलाज हेतु आए मरीजों से संवेदनशीलता के साथ बात कर उनका कुशलक्षेम जाना। समय पर चिकित्सकों की उपलब्धता, भोजन व्यवस्था, दवाइयां की उपलब्धता तथा आदि पर उन्होंने मरीजों से फ़ीडबैक लिया। मातृ-शिशु वार्ड में निरीक्षण के दौरान भर्ती महिला ने कलेक्टर श्री लंगेह को बताया कि डॉक्टर नियमित निरीक्षण हेतु आते हैं, दवाइयां तथा भोजन भी समय पर मिल रहा है। इसी प्रकार एनआरसी में भर्ती 2 वर्षीय बालिका आरोही की माता ने बताया कि बच्चे का देखभाल अच्छे से हो रहा है, मेनू के अनुसार नियमित भोजन उपलब्ध हो रहा है।

सिविल सर्जन तथा अस्पताल सलाहकार को 1 सप्ताह के भीतर व्यवस्था सुधारने के दिए कड़े निर्देश

चिकित्सालय में निरीक्षण के दौरान मानक व्यवस्थाओं में कमी पायी जाने पर कलेक्टर श्री लंगेह ने गहरी नाराजगी जतायी। उन्होंने सिविल सर्जन तथा अस्पताल सलाहकार को फटकार लगाते हुए कहा कि सभी व्यवस्थाएं आगामी एक सप्ताह के भीतर दुरस्त की जाएं अन्यथा कड़ी कार्रवाई की जाएगी। अस्पताल में साफ-सफाई, मरीजों की व्यवस्था, चिकित्सकों की उपस्थिति इत्यादि पर विशेष ध्यान दें। उन्होंने कहा कि ओपीडी हेतु आए मरीजों की जानकारी एक निर्धारित फॉर्मेट के अनुसार अपडेट करें।

डॉक्टरों, नर्स तथा स्टाफ की अब बॉयोमेट्रिक से होगी उपस्थिति, कलेक्टर ने तत्काल व्यवस्था करने के दिए निर्देश, उपस्थिति पंजियों की जांच कर बिना सूचना के अनुपस्थित पाए जाने वालों पर वेतन कटौती की हुई कार्रवाई
कलेक्टर श्री लंगेह ने निरीक्षण के दौरान डॉक्टरों, नर्सों तथा स्टाफ के ड्यूटी पंजी, उपस्थिति पंजी की जांच की। उन्होनें बिना पूर्व सूचना के अनुपस्थित पाए जाने वालों का एक दिवस का वेतन कटौती की कार्रवाई के निर्देश दिए। अस्पताल सलाहकार को तत्काल बायोमेट्रिक मशीन की व्यवस्था के निर्देश दिए। उन्होंने सिविल सर्जन को उपस्थिति पंजियों के नियमित जांच किए जाने के निर्देश दिए।