कांकेर सांसद मोहन मंडावी दिखाएंगे हरी झंडी, आजादी के बाद पहली बार नक्सल क्षेत्र अंतागढ़ से दौड़ेगी पैसेंजर ट्रेन




छत्तीसगढ़ के अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र अंतागढ़ के लोगों को आजादी के अमृत महोत्सव पर पैसेंजर ट्रेन की सौगात मिलने जा रही है। कांकेर सांसद मोहन मंडावी अंतागढ़ से दोपहर 1.35 बजे ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। यह ट्रेन पहले केंवटी तक चल रही थी, जिसे विस्तार करते हुए अब अंतागढ़ से चलाया जाएगा। आजादी की 75वीं वर्षगांठ से 2 दिन पहले कांकेर जिले के लोगों को रेलवे ने बड़ी सौगात दी है। ट्रेन शुरू होने से लोगों में उत्साह है।

बता दें कि छत्तीसगढ़ के दल्लीराजहरा-रावघाट रेल लाइन का काम सुरक्षा बलों की मौजूदगी में किया जा रहा है। अंतागढ़ तक बन चुके रेल लाइन पर अब ट्रेन शुरू होने जा रही है। कांकेर जिले के केंवटी तक चल रही ट्रेन को विस्तार करते हुए अंतागढ़ तक चलाने की मंजूरी रेल मंत्रालय से मिली है। नक्सल प्रभावित क्षेत्र में रेल लाइन विस्तार का काम 2016 से शुरू किया गया है। अंतागढ़ से ट्रेन शुरू होने पर वनांचल के लोगों को बड़ी सुविधा मिलेगी।

केंवटी से अंतागढ़ की दूरी 17 किलोमीटर
बता दें कि केवटी से अंतागढ़ की दूरी 17 किलोमीटर है। रायपुर, दुर्ग, बालोद व कांकेर जिले के लिए यह महत्वपूर्ण पैसेंजर ट्रेन है। 4 जिलों के लोगों को इस ट्रेन का फायदा मिलेगा। अति नक्सल प्रभावित अंतागढ़ में आजादी के 75 साल बाद ट्रेन की सुविधा पहुंच रही है। रेल लाइन का विस्तार रावघाट तक किया जाएगा, जहां से भिलाई इस्पात संयंत्र को लौह अयस्क की आपूर्ति होगी। रावघाट से जगदलपुर तक दूसरे चरण में रेललाइन विस्तार किया जाना है।

विशाखापट्नम से दुर्ग तक एक्सप्रेस ट्रेन
विशाखापट्नम जंक्शन से दुर्ग स्टेशन के लिए पहली बार एक्सप्रेस ट्रेन शुरू होने जा रही है। इस रूट पर पहले पैसेंजर ट्रेन चलती थी, जिसे अब एक्सप्रेस ट्रेन के रूप में बदल दिया गया है। यह ट्रेन शनिवार को शाम 4.50 बजे विशाखापट्नम से रवाना होकर रविवार को सुबह 5:40 बजे दुर्ग पहुंचेगी। 14 अगस्त से ट्रेन दुर्ग से विशाखापट्नम के लिए रवाना होगी। दुर्ग-भिलाई व रायपुर में रहने वाले आंध्र व उत्कलवासियों को इस ट्रेन से बड़ी राहत मिलेगी।



Post Views:
0