कांग्रेस पार्षद पर चोरी की बिजली उपयोग करने का आरोप





दुर्ग निगम के कांग्रेस पार्षद प्रकाश गीते पर बिजली विभाग के अधिकारियों से साथ मिलीभगत कर चोरी की बिजली उपयोग करने का आरोप लगा है। इसके खिलाफ आप पार्टी के जिलाध्यक्ष मेहरबान सिंह ने बिजली विभाग में शिकायत की। जब वहां कोई सुनवाई नहीं हुई तो उन्होंने इसकी शिकायत की। इसके बाद बिजली विभाग के अधिकारी हरकत में आए। उन्होंने भवन को ताला बंद दर्शाते हुए अवैध बिजली कनेक्शन को काटने की कार्रवाई की है।

दुर्ग नगर निगम के वार्ड-42 कसारीडीह के पार्षद कांग्रेस नेता प्रकाश गीते हैं। आप नेता मेहरबान सिंह ने आरोप लगाया है, कि उन्होंने वार्ड में आंगनबाड़ी बनाने जाने की बात कहकर अवैध भवन का निर्माण कराया। इसके बाद उस भवन पर कब्जा करके उसे किराये से दे दिया। अवैध भवन में बिजली कनेक्शन नहीं होने पर उन्होंने खंबे से सीधे लाइन जोड़कर कनेक्शन ले लिया।

पिछले कई सालों से यहां अवैध कनेक्शन के जरिए बिजली जलाई जा रही थी। जब इसकी जानकारी आप नेता मेहरबान सिंह को हुई तो उन्होंने संबंधित बिजली विभाग के एई, जेई से शिकायत की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसके बाद आप नेता ने इसकी शिकायत विजलेंस विभाग से की। टीम ने जांच कर बिजली विभाग के अधिकारियों को अवैध कनेक्शन काटने का निर्देश दिया। इसके बाद अवैध भवन का कनेक्शन काटा गया।

कांग्रेस पार्षद प्रकाश गीते ने बताया कि उनका उस भवन से कोई लेना देना नहीं है। वह भवन आंगनबाड़ी नहीं बल्कि सामुदायिक भवन है। उसे पिछले निगम सरकार के समय से बनाया गया था। उसके बाद जो लोग भवन को मांगते थे उन्हें दिया जाता था। अवैध बिजली कनेक्शन के बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। अवैध लाइन किसने खींची और क्यों खींची, इसके लिए नगर निगम जिम्मेदार हैं। इसके बारे में जब महापौर धीरज बाकलीवाल से बात की गई तो उन्होंने भारत जोड़ों यात्रा में बिजी होने की कहकर बात करने से मना कर दिया।

आप नेता का आरोप है कि इस सारे घटनाक्रम में बिजली विभाग, निगम के जिम्मेदार अधिकारी और महापौर जिम्मेदार हैं। यदि कांग्रेस पार्षद इसी तरह अवैध बिजली जलाएंगे तो उसका गलत संदेश जाएगा। यही काम अगर कोई आम आदमी करता तो बिजली विभाग उसके खिलाफ कार्रवाई करके जुर्माना वसूलता, जबकि इस मामले में वह चुप हैं।

 



Post Views:
2