कांग्रेस सरकार ने पूर्व रमन सरकार के द्वारा दी गई लेटर ऑफ एसेंशियल का मान रखते हुए चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज का अधिग्रहण किया



कांग्रेस सरकार ने पूर्व रमन सरकार के द्वारा दी गई लेटर ऑफ एसेंशियल का मान रखते हुए चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज का अधिग्रहण किया

  • रायपुर,भाजपा चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज अधिग्रहण के विषय पर झूठ बोल रही रायपुर /5 नवम्बर2022/ चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज अधिग्रहण के विषय पर भाजपा के द्वारा लगाए गए आरोप का करारा जवाब देते हुए प्रदेश कांग्रेस चिकित्सा प्रकोष्ठ अध्यक्ष डॉ राकेश गुप्ता ने कहा कि भाजपा चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज अधिग्रहण के विषय पर झूठ की राजनीति कर रही है असल मायने में भाजपा को चंदूलाल मेडिकल कॉलेज में अध्ययनरत छात्रों की भविष्य की चिंता नहीं है बल्कि अपनी ओछी राजनीति की चिंता है।पूर्व के रमन सरकार के द्वारा चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज खोलने के वक्त केंद्र सरकार को दी गई लेटर ऑफ एसेंशियल के कारण राज्य सरकार ने चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज में पढ़ने वाले 450 बच्चों की भविष्य संवारने के लिए बचाने के लिए मेडिकल कॉलेज का अधिग्रहण किया है और अधिग्रहण करने के लिए तय किए गए मापदंडों का पूरा पालन किया है यदि राज्य सरकार मेडिकल कॉलेज का अधिग्रहण नहीं करती तो चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज में पढ़ने वाले छात्रों का भविष्य भी यूक्रेन में पढ़ने वाले मेडिकल छात्रों की भविष्य की तरह अंधकारमय में होता। प्रदेश कांग्रेस चिकित्सा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष डॉ राकेश गुप्ता ने कहा कि भाजपा झूठ बोल रही है भुगतान की राशि में कोई गड़बड़ी नही है। चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज अधिग्रहण के लिए कलेक्टर की अनुशंसा पर कई विभाग उस मेडिकल कॉलेज की संपत्तियों का मूल्यांकन कर रही है और मूल्यांकन होने के बाद जो तय राशि होगी वह मेडिकल कालेज को भुगतान किया जाएगा मेडिकल कॉलेज के संचालक मंडल पर जो कर्ज है वह कर्ज का भुगतान संचालक मंडल करेगा राज्य सरकार सिर्फ संपत्तियों के अधिग्रहण की राशि का भुगतान करेगा। एक भी रूपये का अतिरिक्त भुगतान कांग्रेस सरकार के द्वारा नही किया जा रहा मूल्यांकन के बाद राशि निर्धारित होगी। प्रदेश मे जब नई मेडिकल कॉलेज सरकारी या निजी खुला खोला जाता है तो उसकी नैतिक जिम्मेदारी राज्य सरकार को लेनी पड़ती है कि यदि किसी कारणवश विपरीत परिस्थितियों के चलते वह मेडिकल कॉलेज का संचालन संचालक मंडल नहीं कर सकता तो राज्य सरकार उस मेडिकल कॉलेज में पढ़ने वाले छात्रों के भविष्य को अंधकारमय होने नहीं देगी बल्कि मेडिकल कॉलेज का संचालन स्वयं राज्य सरकार अपनी जिम्मेदारी पर करेगी ऐसे में भाजपा जो सरकार रहते चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज संचालन की नैतिक जिम्मेदारी का पत्र केंद्र सरकार को लिखे थे आज विपक्ष में आते ही उसने तक जिम्मेदारी से क्यों भाग रहे हैं? प्रदेश कांग्रेस चिकित्सा प्रकोष्ठ अध्यक्ष डॉ राकेश गुप्ता ने कहा कि नेशनल मेडिकल कमिशन ने पूर्व में चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज में कुछ कमियां पाई थी जिसके चलते मेडिकल कॉलज को नए सत्र के लिए अनुमति नहीं मिला है इस बार चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज संचालक मंडल एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग ने पुनः एफिडेविट देकर नेशनल मेडिकल कमिशन को पुनः चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज का परीक्षण करने का निवेदन किया है और परीक्षण उपरांत पूर्व की तरह ही चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज में चिकित्सा शिक्षा की पढ़ाई प्रारंभ हो जाएगी पूर्व से अध्ययन कर रहे 450 छात्रों में से अधिकांश छात्रों की पढ़ाई पूर्ण हो चुकी है कुछ छात्रों की पढ़ाई अभी जारी है और पुनः चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज छत्तीसगढ़ के छात्र जो चिकित्सा के क्षेत्र में पढ़ाई करना चाहते हैं उन्हें शिक्षा का अवसर प्रदान करेगी।