कोण्डागांव : उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने निर्माणाधीन मक्का प्रसंस्करण प्लांट का किया निरीक्षण



कोण्डागांव, 09 दिसम्बर 2022 : वाणिज्य कर एवं उद्योग मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री श्री कवासी लखमा ने अपने दो दिवसीय कोण्डागांव प्रवास के दौरान शुक्रवार को प्रातः ग्राम कोकोड़ी पहुंच निर्माणाधीन मक्का प्रसंस्करण प्लांट का निरीक्षण किया। इस अवसर पर श्री लखमा द्वारा कलेक्टर दीपक सोनी एवं पुलिस अधीक्षक दिव्यांग पटेल के साथ प्लांट का निरीक्षण कर प्लांट निर्माण में लगे इंजीनियरों से प्लांट निर्माण के संबंध मंे जानकारी ली।

इस दौरान उन्होने प्लांट में कार्यरत मजदूरों से उनकी सुरक्षा तथा अन्य व्यवस्थाओं के संबंध में जानकारी लेते हुए अधिकारियों को प्लांट में शत् प्रतिशत स्थानीय श्रमिकों को रोजगार देने को कहा। उन्होने मजदूरों के साथ मिलकर प्लांट निर्माण हेतु श्रमदान करते हुए श्रमिकों को प्रोत्साहित भी किया।

इस अवसर पर प्लांट के समीप बसे गांवों से आये ग्रामीणों को संबोधित करते हुए उन्होने कहा कि वर्ष 2019 में भोंगापाल से उन्होने क्षेत्र में मक्का उत्पादन को देखते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से यहां मक्का प्रसंस्करण ईकाई स्थापना की मांग की थी। जिस पर मुख्यमंत्री द्वारा जिले में मक्के के उत्पादन को देखते हुए मक्का प्रसंस्करण प्लांट निर्माण की कवायद प्रारंभ की गयी थी। जो अब आगामी वर्ष तक बनकर तैयार हो जायेगा।

इस प्लांट के बन जाने से दीर्घावधि तक न सिर्फ कोकोड़ी अपितु पूरे कोण्डागांव के 45 हजार से अधिक मक्का उत्पादक कृषकों को लाभ प्राप्त होगा साथ ही स्थानीय 250 से अधिक लोगों को प्रत्यक्ष रोजगार भी प्राप्त होगा। उन्होने सभी किसानों को मक्का उत्पादन कर नजदीकी सहकारी समितियों में जा कर विक्रय करने को कहा।

उन्होने बताया कि वर्तमान में मक्का उत्पादक किसानों से बाहरी दलालों द्वारा कम मूल्य पर मक्का खरीदा जाता है जिससे उन्हें लाभ प्राप्त नहीं होता। उन्होने सभी कृषकों को समिति में जा कर निर्धारित न्यूनतम समर्थन मूल्य 1962 रूपये प्रति क्विंटल की दर से ही मक्का बेचने को कहा जिस पर शासन द्वारा राजीव गांधी किसान न्याय योजना का भी लाभ प्राप्त होगा।

शासन द्वारा मक्का उपार्जन के प्रति लोगों को जागरूक करने हेतु उन्होने अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार एवं राजीव युवा मितान क्लबों के माध्यम से गांव-गांव तक जानकारी पहुंचाने को कहा ताकि मक्का उत्पादक किसानों को अधिक से अधिक लाभ पहुंचाया जा सके।

इस के साथ ही उन्होने शासन की उपलब्धियों तथा लाभदायक योजनाओं की जानकारी देते हुए किसानों को क्षेत्र में होने वाले सीताफल, तेन्दुपत्ता जैसे अन्य प्राकृतिक उत्पादों के प्रसंस्करण हेतु आगे आकर योजनाओं के माध्यम से उसे उद्योग के रूप में विकसित करने हेतु ग्रामीणों को प्रोत्साहित किया।

इस अवसर पर संसाद प्रतिनिधि कैलाश पोयम, सरपंच कोकोड़ी, जिला पंचायत सीईओ प्रेम प्रकाश शर्मा, एसडीएम चित्रकांत चार्ली ठाकुर, तहसीलदार विजय मिश्रा, जनप्रतिनिधि झुमुक दीवान, तब्बसुम बानो सहित बड़ी संख्या में स्थानीय ग्रामीण उपस्थित रहे।