कोरबा : रानी अटारी विजय वेस्ट के खिलाफ ग्रामीणों के साथ विधायक केरकेट्टा बैठे हड़ताल पर.. जर्जर सड़क व रोजगार को लेकर एसईसीएल प्रबंधन को लगाई जमकर फटकार..



कोरबा/कटघोरा 23 नवम्बर 2022 ( सेंट्रल छत्तीसगढ़ ) : एसईसीएल चिरमिरी क्षेत्र रानी अटारी विजय वेस्ट भूमिगत खदान संचालित है। भूमिगत रानी अटारी विजय वेस्ट खदान से कोयला लोडिंग बीजाडांड, तनेरा, सरमा, कोरबी होते हुए परिवहन किया जाता है। रानी अटारी गांव से गुजरने वाली सड़क से कॉल साइडिंग का काम परिचालन दिन-रात किया जा रहा है। जिसके कारण यहां का सड़क मार्ग पूरी तरह खराब होकर बड़े-बड़े गड्ढों में तब्दील हो चुकी है। जिसमें पूर्व में बनी पक्की सड़क में डामर का नामोनिशान पूरी तरह खत्म हो चुका है। पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो चुके इस सड़क मार्ग को बनाएं लगभग 20 वर्ष हो चुका है। प्रबंधन द्वारा खानापूर्ती करते हुए अभी तक बड़े-बड़े बोल्डर डालकर मिट्टी भर दिया जाता है। भारी वाहन चलने से रोड में इतना धूल उड़ रहा है कि गांव में बसे लोगों के घर में डस्ट से परेशान एवं खाना बनाने तक का बर्तन मैं भी बहुत ज्यादा डस्ट बैठ जाता है। इसी को लेकर आज रानी अटारी व आसपास के पंडो जनजाति व ग्रामीणों द्वारा पाली तानाखार विधायक मोहित6 केरकेट्टा के नेतृत्व में विजय वेस्ट खदान के मुख्य द्वार पर तालाबंदी कर अनिश्चितकालीन धरना पर बैठ कर अपनी मांगों को लेकर प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारे लगाए ।

विधायक मोहितराम केरकेट्टा अपने उद्बोधन में एसईसीएल विजय वेस्ट प्रबंधन के खिलाफ जमकर बरसे उन्होंने कहा कि8 यहां के ग्रामीणों के साथ विजय वेस्ट प्रबंधन अपनी वादा खिलाफी के साथ पूरी तरह अन्याय कर रहा है। यहां के प्रभावित ग्रामीणों के रोजगार के भुगतान में कमीशनखोरी कर यहां के दलाल उन्हें कम भुगतान कर रहे है। एसईसीएल प्रबंधन द्वारा सीएसआर मद का अभी तक 20 वर्षों में कितना पैसा जिला कलेक्टर के पास क्षेत्र के विकास के लिए दिया है ये बतादें.. विजय वेस्ट एसईसीएल प्रबंधन द्वारा आज तक यहां की जर्जर हो चुकी सड़कों के लिए एक पैसा भी खर्च नही किया है। जोकि इनकी जिम्मेदारी है और और वे अपनी जिम्मेदारी से अपना मुंह छुपा रही है। उन्होंने पुलिस महकमे को भी चेतावनी देते हुए कहा कि यदि प्रबंधन के किसी भी व्यक्ति द्वारा ग्रामीणों के मेहनत पर कमीशनखोरी करता है तो उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही करें नहीं तो पुलिस अधिकारियो पर कार्यवाही की जाएगी।

विजय वेस्ट प्रबंधन द्वारा जर्जर सड़क में उड़ती धूल के लिए पानी टैंकर को लाया तो जाता है लेकिन टैंकर को सड़क के साइड में छोड़कर खड़ा कर दिया जाता है। धूल डस्ट एवं खराब रोड से आम लोगों को बहुत ज्यादा समस्या हो रही है। पिछले 20 साल से सबरिया प्रबंधक, महाप्रबंधक चिरमिरी क्षेत्र को आवेदन निवेदन कई बार किया जा चुका है। लेकिन उनके कान में जूं तक नहीं रेंग रही है। ग्रामीण सभी तरह से ग्रसित हैं। खदान खोलने से अभी तक 10 किलोमीटर के दायरे में पुटिपखना, बीजाडांड, अडूसरा, रानी अटारी, तनेरा, सरमा, धवलपुर, सेंदुर गढ़, सेमरा, अमली बहरा, जलके में सीएसआर मद से अभी तक 10 सालों में कोई काम नहीं कराया गया है। बीजाडांड गांव में काफी किसानों के खेतों एवं घरों तथा जमीन में दरार आ चुकी है। लेकिन किसानों का नुकसान का कोई भरपाई भी नहीं किया जा रहा है।

युवा कांग्रेस भी हुआ इस हड़ताल में ग्रामीणों के साथ शामिल.

पाली तानखार विधानसभा उपाध्यक्ष उद्भव चन्द्रा के नेतृत्व में भारी संख्या में युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता इस हड़ताल में शामिल होने रानी अटारी विजय वेस्ट भूमिगत खदान पहुंचे।इस मौके पर युवा कांग्रेस पाली तानाखार अध्यक्ष अंकित पाल, जिला उपाध्यक्ष मधुसूदन दास ने एसईसीएल विजय वेस्ट प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारे लगाए। उन्होंने रानी अटारी से कोरबी तक 18 किलोमीटर की जर्जर हो चुकी सड़क को लेकर प्रबंधन को जमकर कोसा। तथा ग्रामीणों खासकर राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र पंडो जनजाति को प्रबंधन द्वारा उनके हक का हनन व पीने के लिए गंदे पानी को फेना पूरी तरह गलत बताया। और बताया कि ग्रामीणों की समस्याओं में हम उनके साथ है। जब तक प्रबंधन लिखित में आश्वासन नही देता है तब तक मुख्य गेट बंद कर विजय वेस्ट का कोयला परिवहन पूरी तरह बंद रखा जाएगा।

ग्रामीणों ने प्रबंधन पर लगाया आरोप, नही किया जा रहा कोई कार्य

यहां के प्रभावित ग्रामीणों में बताया कि रानी अटारी से जिला मुख्यालय कोरबा जाने का एकमात्र यही सड़क मार्ग है। यहां से ना कोई बस चलती है, बल्कि रोड खराब होने से पिछले दिनों में रोड पर स्ट्राइक भी किया गया था। जिसपर प्रबंधन द्वारा 31 मार्च 2022 तक लिखित आश्वासन दिया गया था। ऐसे कई बार सड़क व अन्य समस्याओं को लेकर हड़ताल किया जा चुका है लेकिन एसईसीएल महाप्रबंधक से क्षुब्ध होकर उन्होंने अनिश्चितकालीन धरना के लिए पहले ही आवेदन प्रेषित कर दिया था। और बताया कि पूर्व में चेतावनी दी गई थी कि यदि 15 दिवस के भीतर रोड डामरीकरण कार्य नहीं कराया गया तो रानी अटारी गेट में विधायक मोहितराम केरकेट्टा के नेतृत्व में अनिश्चितकालीन हड़ताल पर गांव के लोग बैठेंगे, जिसके जिम्मेदार एसईसीएल चिरमिरी क्षेत्र रानी अटारी होगा।