गोधन न्याय योजना का निरीक्षण करने के लिए प्रत्येक पखवाड़े में गौठान जाएं अधिकारी- सीइओ



कलेक्ट्रेट सभागार में जिला पंचायत सीइओ ने सभी नोडल अधिकारियों की समीक्षा बैठक में दिए निर्देश

बैकुण्ठपुर दिनांक 13/12/22 – संयुक्त कलेक्ट्रेट के सभागार में गोधन न्याय योजना के तहत गौठानों का भ्रमण करने वाले नोडल अधिकारियांे की समीक्षा बैठक संपन्न हुई। इस बैठक को संबोधित करते हुए जिला पंचायत सीइओ श्रीमती नम्रता जैन ने कहा कि यह षासन की महत्वपूर्ण योजना है जिससे कई स्तर पर हितग्राहियों को सीधा लाभ प्रदान किया जा रहा है। इसलिए नोडल अधिकारी हर पखवाड़े में कम से कम एक दिन गौठानों का भ्रमण अवष्य करें। इससे गौठानों में गोधन न्याय योजना के जमीनी क्रियान्वयन का बेहतर तरीके से आंकलन किया जा सकेगा और समन्वय से समस्याओं का तत्काल निराकरण करने में सहूलियत होगी। जिला पंचायत सीइओ ने आज गौठान के लिए नियुक्त नोडल अधिकारियों की समीक्षा बैठक लेकर गोधन न्याय योजना के निरीक्षण के दौरान विशेष तौर पर देखे जाने वाले विषयों का उल्लेख कर उनकी जानकारी एकत्र करने के निर्देश दिए। नोडल अधिकारियों को निर्देशित करते हुए सीइओ जिला पंचायत ने कहा कि गोबर विक्रय से किसानों और पशुपालकों को सीधा लाभ हो रहा है इसलिए प्रत्येक भ्रमण में नियमित खरीदी की जानकारी जरूर लें। इसके साथ ही गोबर से वर्मी कंपोस्ट बनाने की प्रक्रिया में महिलाओं के स्व सहायता समूहों का लाभ जुड़ा हुआ है इसलिए सभी नोडल अधिकारी बनाए जा रहे वर्मी कंपोस्ट, उसकी कुल मात्रा के साथ बनाकर रखे गए वर्मी कंपोस्ट और उठाव के बाद गौठानों को होने वाले भुगतान की जानकारी अवष्य एकत्र करें। इसके लिए एक दिन निर्धारित करते हुए जिला पंचायत सीइओ ने कहा कि आप सभी ष्षुक्रवार को अपने निर्धारित गौठान का भ्रमण करें इस संबंध में सभी ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारियों के साथ ही ग्राम पंचायत सचिवों और स्व सहायता समूहों की महिलाओं को भी सूचित करें ताकि सभी एक साथ एकत्र हों और इससे गौठान की सभी गतिविधियों का पूरा निरीक्षण एक बार में ही हो सकेगा और जहां पर भी समन्वय की कमी है वह चिंन्हाकित कर दूर की जा सकेगी। उन्होने बैठक में अधिकारियों को निर्देषित करते हुए कहा कि जिस भी गौठान में समूहों की महिलाओं को भुगतान प्राप्त नहीं हुआ है उसका सही कारण भी अपने प्रतिवेदन में उल्लेख अवष्य करें जिससे जल्द निराकरण में सहूलियत हो। खरीदे गए गोबर के अनुसार उपलब्धता और वर्मी बनाए जाने का भी उल्लेख करने के निर्देष देते हुए सीइओ ने कहा कि सभी वस्तुओं का भौतिक सत्यापन अवष्य करें। जिससे पारदर्षिता बढ़ाई जा सके। इस बैठक में जनपद पंचायत सीइओ, उप संचालक पंचायत सहित अन्य संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।