ग्रामीणों को स्कूल में तालाबंदी करना पड़ा महंगा, शिक्षा अधिकारी ने किया ऐसा सलूक



 

महासमुंद । महासमुंद जिले के पिथौरा विकास खण्ड के शासकीय शहीद कमलेश्वर सोनवानी हायर सेकेंडरी स्कूल बुंदेली में ग्रामीणों को शिक्षक की मांग को लेकर तालाबंदी करना महंगा पड़ गया । मामले में  शिक्षा अधिकारी के शिकायत पर तेन्दूकोना थाने में 7 लोगों के खिलाफ IPC की धारा 342, 147 , 149 , 186 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

बता दे कि, शासकीय शहीद कमलेश्वर सोनवानी हायर सेकेंडरी स्कूल बुंदेली में करीब 355 छात्र- छात्राएं अध्यनरत है । बीस दिन पहले यहां से रसायन विज्ञान , भौतिक विज्ञान और जीव विज्ञान के शिक्षको का स्थानांतरण हो गया था। लेकिन इनकी जगह पर अब तक किसी की नियुक्ति नही हुई ।

जिससे छात्र- छात्राओं की पढ़ाई प्रभावित हो रही थी। ग्रामीणों ने 3 नवंबर को कलेक्टर के नाम ज्ञापन तैयार कर विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी व एसडीएम के कार्यालय में दे दिया था । जिसमें लिखा था कि शिक्षक की व्यवस्था नही हुई तो 4 नवंबर को स्कूल में ताला बंदी करेंगे । उसके बाद ग्रामीणों ने 4 नवंबर को स्कूल में तालाबंदी कर दी ।

ताला बंदी की खबर सुनकर विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी मौके पर पहुंचे और लोगों को समझाया तो ग्रामीण मान गये और ताला खोल दिये। उसके बाद  शिक्षा अधिकारी ने 7 लोगों के खिलाफ शासकीय कार्य में बांधा पहुंचाने , शिक्षक को बंधक बनाने की शिकायत की और पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया । गौरतलब है कि महासमुंद जिले में आये दिन शिक्षक की मांग को लेकर ताला बंदी की खबरे आया करती है। ऐसे में ये सवाल खड़ा होता है कि क्या शिक्षक की मांग करना गलत है ? अगर ये गलत है तो बच्चों के भविष्य का क्या होगा ? ये एक बडा सवाल है जिसका जवाब हर पालक जानना चाहता है ।