चिरमिरी बना माफियाओं का गढ़, अवैध खनन पर रोक लगाने में प्रशासन नाकाम

CG News Today



मनेंद्रगढ़। coal smuggler in Chirmiri  जिला मनेंद्रगढ़ चिरमिरी भरतपुर के अंतर्गत आने वाले कोयलांचल नगरी चिरमिरी में अवैध कोयले का उत्खनन इन दिनों अपनी चरम सीमा पर चल रहा है जिसे रोक लगा पाने में एसईसीएल से लेकर स्थानीय प्रशासन नाकाम साबित हुआ है।

coal smuggler in Chirmiri  आपको बता दें कि, काले हीरे की नगरी के रूप में अपनी पहचान बनाने वाली चिरमिरी क्षेत्र में अवैध कोयले का कारोबार इन दिनों अपनी चरम सीमा पर चल रहा है सबसे बड़ा सवाल उठता है कि आखिर कोयले के अवैध कारोबार करने वाले कुल माफियाओं को आखिर किस का संरक्षण प्राप्त है जिसके कारण चिरमिरी क्षेत्र में चल रहे अवैध कोयले के कारोबार पर ना तो एसईसीएल प्रबंधन और ना ही स्थानीय प्रशासन रोक लगा पाने में नाकाम है।

coal smuggler in Chirmiri   वही इन दिनों वन परीक्षेत्र के अंतर्गत चिरमिरी क्षेत्र के कई हिस्सों में कोयले का अवैध उत्खनन चरम सीमा पर चल रहा है। जहां वन विभाग अमला कार्यवाही करने के बजाय बढ़ता नजर आता है वही पुलिस प्रशासन अपनी पूरी जिम्मेदारियों के साथ कार्य करती नजर आ रही है लेकिन सबसे बड़ी बात है कि एसईसीएल जिसे कोयले का उत्खनन करने का पूर्ण अधिकार और दायित्व मिला है।

आखिर क्षेत्र में चल रहे अवैध कोयले के उत्खनन और कोल माफियाओं पर अंकुश क्यों नहीं लगा पा रहा है यह अपने आप में सोचने वाली बात है अब देखने वाली बात होगी कि चिरमिरी क्षेत्र जोकि अवैध कारोबार का गढ़ बनता जा रहा है इस पर कब और कैसे रोक लगाया जा सकेगा यह तो समय ही बताएगा