छत्तीसगढ़ के जवान की लद्दाख में मौत, तबीयत बिगड़ने के बाद इलाज के दौरान निधन





लेह लद्दाख सीमा पर तैनात धमतरी जिले के जवान मनीष नेताम की ड्यूटी के दौरान मौत हो गई। जवान मनीष नेताम सेना के मराठा रेजीमेंट में तैनात थे। लेह लद्दाख में माइनस 20 डिग्री सेल्सियस तापमान में ड्यूटी कर रहे जवान की तबीयत बुधवार को अचानक बिगड़ी। उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। मनीष को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उसकी मौत हो गई। जवान मनीष नेताम का शव शुक्रवार को धमतरी पहुंचेगा, जहां अंतिम संस्कार किया जाएगा।

जवान मनीष ध्रुव की मौत की खबर जैसे ही गांव में पहुंची, लोग शोक में डूब गए हैं। शुक्रवार को राजकीय सम्मान के साथ शहीद के शव का अंतिम संस्कार ग्राम खरेंगा में किया जाएगा। परिजन और गांववाले मनीष को अंतिम विदाई देने की तैयारियों में जुटे हैं। गुरुवार को गांव में आयोजित होने वाले मड़ई मेले को भी स्थगित कर दिया गया है। ​​​​​ग्राम विकास समिति के अध्यक्ष सुभाष साहू और सचिव हिरेंद्र साहू और सरपंच अमेरिका ध्रुव ने ग्रामीणों के साथ विचार-विमर्श बाद ये फैसला लिया। परिवार वालों और ग्राम वासियों से मिलने के लिए साहू समाज के प्रदेश महामंत्री दयाराम साहू, नगर निगम के पूर्व सभापति राजेंद्र शर्मा, भाजपा झुग्गी झोपड़ी प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक महेंद्र पंडित से मिलने पहुंचे।

शहीद मनीष नेताम के पार्थिव शरीर को ग्राम खरेंगा पहुंचने के बाद अंतिम दर्शन के लिए गांव के स्कूल में रखा जाएगा, जहां उपस्थित जनों द्वारा उन्हें पुष्पांजलि दी जाएगी। राष्ट्रीय धुन पर उनकी शव यात्रा गांव के मुख्य मार्ग से होते हुए मुक्तिधाम के लिए प्रस्थान करेगी। कल होने वाले अंत्येष्टि कार्यक्रम में सभी ग्रामीण शामिल होंगे, इसलिए एक दिन के लिए वे अपना कृषि सहित अन्य कार्य बंद रखेंगे।

 


Post Views: 2