छत्तीसगढ़ पहुंची देश की सबसे तेज ट्रेन, 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से जाएगी नागपुर





छत्तीसगढ़ के लोगों के लिए वंदेभारत ट्रेन 11 दिसंबर को शुरू होने वाली है। लेकिन, इस ट्रेन का इंतजार अब खत्म हो गया है। बुधवार की रात 12.40 बजे यह ट्रेन बिलासपुर स्टेशन पहुंची। यह ट्रेन कोचिंग डिपो में परीक्षण के बाद 10 दिसंबर को नागपुर के लिए रवाना होगी। वहां से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हरी झंडी दिखाकर ट्रेन का शुभारंभ करेंगे। वंदेभारत ट्रेन बिलासपुर से नागपुर के बीच 130 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी। SECR के लिए यह पहलट्रेन होगी, जो सबसे तेज गति से दौड़ेगी।

सेमी-हाई स्पीड इस ट्रेन की खासियत है कि यह स्मूथली रन करेगी। इसे पुराने रूप से भी बेहतर डिजाइन दिया गया है। इसके साथ ही इसमें यात्रा को सुरक्षित और अधिक आरामदायक बनाने के लिए कई बदलाव किए गए हैं। इसमें रिवॉल्विंग सीट लगाई गई है। इसमें ऑटोमेटिक फायर सेंसर की व्यवस्था के साथ गेट में सेंसर लगा है, जिससे गेट ऑटोमेटिक खुलेगी और बंद हो जाएगी। ट्रेन में यात्रियों के लिए सभी तरह की सुविधाएं मुहैया कराई गई है।

वंदे भारत ट्रेन शुरू करने के लिए रेलवे बोर्ड से पहले ही स्वीकृति मिल गई है। इसके लिए जोन के अधिकारियों ने तैयारियां भी शुरू कर दी है। रैक लेने के लिए जोन से एक टीम चेन्नई रवाना किया गया था। टीम में शामिल लोको पायलट और स्टाफ मंगलवार की रात दो बजे चेन्नई से रैक लेकर निकले थे। इसके साथ ही हरी झंडी मिलने के बाद से जोन व मंडल के रेल अफसरों ने कोचिंग डिपो में मेंटनेंस की तैयारी भी शुरू कर दी थी। इसका मेंटेनेंस जोनल मुख्यालय के कोचिंग डिपो में ही होना है। इसके लिए वाशिंग लाइन नंबर एक को तैयार किया गया है। वंदे भारत ट्रेन की रैक विजयवाड़ा-गोंदिया, दुर्ग, रायपुर होते हुए देर रात बिलासपुर स्टेशन पहुंची।

ट्रेन को देखने के लिए उत्सुक नजर आए रेल अफसर और शहरवासी
इस ट्रेन के आने की जानकारी रेल अफसरों के साथ ही स्थानीय लोगों को भी हो गई थी। ट्रेन के नागपुर और गोंदिया पहुंचने के बाद से ही वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा था। लिहाजा, ट्रेन के आने के इंतजार में रेल अफसरों के साथ ही शहर के लोग भी स्टेशन पहुंचे थे। जैसे से प्लेटफार्म नंबर 8 में ट्रेन पहुंची, लोगों ने ताली बजाकर इसका स्वागत किया। इस दौरान ट्रेन के अंदर जाकर भी लोग सेल्फी लेते नजर आए।


Post Views: 0