छत्तीसगढ़ महिला आयोग की अध्यक्ष ने की 25 प्रकरणों पर सुनवाई।


सरायपाली/जनसंवाद/विकास नंद/

छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ. किरणमयी नायक ने आज जिला पंचायत के सभाकक्ष में महिलाओं से संबंधित शिकायतों के निराकरण के लिए जन-सुनवाई की। इस मौके जिला पंचायत अध्यक्ष उषा पटेल, आयोग के सदस्य डॉ. अनिता रावटे, जिला महिला बाल विकास अधिकारी समीर पांडेय सहित पूरे जिला प्रशासन के संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।
अध्यक्ष डॉ. किरणमयी नायक ने शिकायतों को गम्भीरता से सुना। पिछले प्रकरणों की सुनवाई की भी जानकारी ली। आज 25 प्रकरणों की जन सुनवाई हुई, जिसमें 18 प्रकरणों का निराकरण मौके पर हुआ। सात प्रकरण नस्तीबद्ध किए गए। कुछ आवेदकों को काउंसलिंग और समझाइश देकर शिकायतों को सुलझाया गया। पिछले प्रकरण की सुनवाई के दौरान जिला पंचायत अध्यक्ष उषा पटेल की निगरानी और समझौते, उनका मत लेकर दोनों पक्षों को एक साथ रहने की सहमति हुई।
डॉ. किरणमयी नायक ने महिलाओं की परिवेदनाएं सुनकर संबंधित अधिकारियों के मौके पर ही समस्या, समाधान करने की बात कही। उन्होंने कहा कि लोगों के समस्या और शिकायतों का समय पर निराकरण होना चाहिए। उन्होंने कहा राज्य सरकार की ओर से आम जन के लिए एक से बढ़कर एक कल्याणकारी योजनाएं संचालित की जा रही है। पात्र लोगों को खासकर महिलाओं को योजना का लाभ और बेहतर ढंग से मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि जन सुनवाई के जरिए प्रकरणों का निराकरण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आयोग में आने वाले प्रत्येक व्यक्ति को सुना जाए। कोई भी व्यक्ति या महिला यहां से निराश न लौटे। हर प्रकरण में पीड़ित को न्याय मिले और लोगों को एक बेहतर व्यवस्था का एहसास हो। उन्होंने कहा कि महिला उत्पीड़न से जुडे़ मामलों में महिलाओं को आगे आना चाहिए और अपनी हक की बात कहनी चाहिए।