*जशपुर रायगढ़ के सरहद में इस तरह से चलता है 52 परियों का खेल, जंगल एवं पहाड़ी इलाकों में चलता है महाखेल, पुलिस ठिकानों पर दबिश देकर………….* Munadi

CG News Today



 

जशपुरनगर। पत्थलगांव एसडीओपी हरीश पाटिल के द्वारा लगातार जुआड़ियों पर छापेमार कार्यवाही की जा रही है जिससे जुआड़ियों में दहशत का माहौल है और वे अब सुरक्षित ठिकानों की तलाश में अब रायगढ़ जिले के रैरुमा चौकी क्षेत्र और बागबहार – कोतबा की तरफ रुख कर रहे हैं, जानकारी के मुताबिक फड़ संचालक लगातार जुआड़ियों को भरोसा दिलाकर जुआ संचालन कराया जाता है और इसके एवज में उनसे फीस के तौर पर सबसे पहले सभी जुआड़ियों से 500-500 रुपये वसूले जाते हैं वहीं नाल के रुप में जुआड़ियों से ताश पत्ती फेंकते हुए 3 जुआड़ियों को पार करने पर उनसे 500 से 1000 रुपये तक वसूली की जाती है।
जशपुर जिले के बागबहार थानाक्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत मटपहाड़ के जंगलों में रोजाना ताशपत्ती का खेल चलाया जा रहा है, इस दौरान लाखों रुपये के हार जीत का दांव लगाया जाता है, कई युवा इसके लत में पड़कर बर्बाद हो चुके हैं वहीं जुआ खिलवाने वाला मालामाल हो जाता है, आपको बता दें कि इनके द्वारा पुलिस से बचने के लिए तरह तरह के हथकंडे अपनाए जाते हैं, और जगह जगह 3-4 युवाओं को मुखबिर बनाकर तैनात किया जाता है ताकि पुलिस के पहुंचने से पहले ही जुआड़ीयन मौके से फरार हो सकें, जानकारी के मुताबिक मटपहाड के जंगली ईलाके में रोजाना लाखों रुपयों का जुआ फड़ सजता है जिसमें पत्थलगांव, बागबहार और कोतबा के अलावा, रायगढ़ जिले के लैलूंगा और धरमजयगढ़ से भी भारी संख्या में कई युवा शामिल होते हैं और हारजीत का दांव लगाते हैं। वहीं लैलूंगा, और बाकारुमा के जंगलों में भी जुआ का फड़ सजाया जा रहा है, सूत्रों के मुताबिक इस जुआ का संचालन लैलूंगा और बाकारुमा के कुछ युवकों द्वारा किया जा रहा है और उनके द्वारा इसके एवज में बाकायदा रैरुमा चौकी और एसडीओपी धरमजयगढ़ तक पैसा पहुंचाने की बात भी कही जाती है, ताकि जुआड़ियों को पुलिस का कोई ड़र न रहे। कुछ महीने पहले तत्कालीन बिलासपुर आईजी रतनलाल डांगी द्वारा लगातार जुआड़ियों पर कार्यवाही का अभियान चलाया गया था जिसके बाद रैरुमा चौके क्षेत्र और लैलूंगा के ये सभी जुआड़ी पत्थलगांव इलाके की तरफ रुख किये थे लेकिन अब पत्थलगांव एसडीओपी हरीश पाटिल के द्वारा लगातार जुआड़ियों पर कार्यवाही करने के बाद जुआड़ियों के हौसले पस्त हो चुके हैं और वे पुनः रैरुमा चौकी इलाके और बागबहार इलाकों का रुख कर रहे हैं।

*”जुआड़ियों पर लगातार कार्यवाही की जाएगी, मुखबिर तैनात कर जुआड़ियों के ठिकानों की तलाश की जा रही है सूचना मिलने पर कार्यवाही की जाएगा।”*

*हरिश पाटिल एसडीओपी पत्थलगांव।*


munadi news jashpur