*जिले को कांग्रेस मुक्त करना पहली प्राथमिकता: सुनिल गुप्ता, भाजपा के नवनियुक्त जिलाध्यक्ष का हुआ जोरदार स्वागत, बगिया पहुंच कर पूर्व प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदेव साय का लिया आशीर्वाद………..……*



जशपुरनगर। चुनावी साल से ठीक पहले भारतीय जनता पार्टी ने जिलाध्यक्ष के प्रभार में बदलाव किया है। पार्टी के प्रदेश आलाकमान द्वारा जारी किए गए जिलाध्यक्षों की सूची में रोहित साय को जिलाध्यक्ष के पदभार से मुक्त करते हुए,कांसाबेल के सुनिल गुप्ता को जिलाध्यक्ष घोषित किया गया है। जिलाध्यक्ष की घोषणा होने के बाद बुधवार को नवनियुक्त जिलाध्यक्ष सुनिल गुप्ता का पार्टी के कार्यकर्ताओं ने रैली निकाल कर जोरदार स्वागत किया। स्वागत का यह सिलसिला,कांसाबेल से शुरू हुआ। यहां कार्यकर्ताओं ने जय घोष के गगन चुंबी नारे के साथ सुनिल गुप्ता को फूलों से लाद दिया। रैली कांसाबेल से रवाना हो कर बगिया पहुंची। यहां सुनिल गुप्ता ने पूर्व प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय से आशिर्वाद ग्रहण किया। साय ने नवनियुक्त जिलाध्यक्ष को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आने वाले साल में विधानसभा चुनाव होना है। हम सबको एकजुट हो कर जनता को कांग्रेस के कुशासन से मुक्त करने के लिए काम करना है। उन्होनें कहा कि हम सबका एक ही लक्ष्य होना चाहिए केन्द्र की नरेन्द्र मोदी की योजनाओ और उपलब्धियों और कांग्रेस सरकार की नाकामियो और भ्रष्ट कारनामों को जनता तक पहुंचा कर,विधानसभा चुनाव में भाजपा की जीत सुनिश्चित करना है। बगिया से सुनिल गुप्ता बगिया मंडल पहुंचे। यहां मंडल के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने उनका आतिशी स्वागत किया। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए सुनिल गुप्ता ने कहा कि भाजपा में सामूहिक उत्तरदायित्व की परम्परा है। यही हम सबकी ताकत है। एकजुटता के साथ अगले विधानसभा चुनाव में लड़ कर,जीत हासिल करना है। दोकड़ा के बाद सुनिल गुप्ता ने राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग के पूर्व अध्यक्ष नंदकुमार साय और लोकसभा सदस्य श्रीमती गोमती साय से मुलाकात कर,उनका आशिर्वाद लिया और आगे की रणनीति पर विचार विमर्श किया।
जिले को कांग्रेस मुक्त करना लक्ष्य –
मिडिया से चर्चा करते हुए,नवनियुक्त जिलाध्यक्ष सुनिल गुप्ता ने कहा कि हम सबका एक ही लक्ष्य है अगले विधानसभा चुनाव में जिले के तीनों विधानसभा चुनाव में पार्टी की जीत सुनिश्चित करना। इसके लिए पार्टी के सभी पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं के उत्साह को देख कर,अंदाजा लगाया जा सकता है कि पार्टी जीत के कितने समीप है। उन्होनें कहा कि कांग्रेस की वायदा खिलाफी और विफलताओं की वजह से छत्तीसगढ़ की जनता में असंतोष व्याप्त है।