डिजाईनर दिया, गेंदे फूल की खेती से स्व सहायता समुह के महिलाओं को मिल रही आय /सी-मार्ट एवं स्थानीय बाजार मे प्रकाश फैलाते महिला समुह के दिये



कोरबा @ सेंट्रल छत्तीसगढ़ – छत्तीसगढ राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन (बिहान) अंतर्गत गठित समुह के द्वारा जिला कोरबा में दीपावली व छठ के त्यौहारी सीजन में पॉचों विकासखण्ड कोरबा, करतला, कटघोरा, पाली, पोंडी-उपरोडा में मिट्टी के डिजाईनर दिया तथा गोबर के दिये तैयार किये जा रहें है।

निरीक्षण करते कलेक्टर संजीव झा व निगम आयुक्त प्रभाकर पाण्डेय

जिसमें अब तक कुल 46 समुहों के द्वारा 3,18,000 नग मिट्टी के दिये तैयार व विक्रय कर 4,77,000 रूपये तथा गोबर के 31780 नग दिये तैयार कर 63560रूपये का आय सृजन किया गया है। इसके अतिरिक्त माननीय कलेक्टर महोदय के विशेष पहल से अमरपुर व कांपुबहरा के गोठान से 25 कि.ग्रा. गेंदा कोरबा शहर व कटघोरा में विक्रय किया गया तथा दीपावली के दिन लगभग 70 कि.ग्रा. गेंदा का आर्डर सुनिश्चित किया गया। इस प्रकार 60रूपये कि.ग्रा. की दर से लगभग 5700 रूपये की आय संलग्न समुह को प्राप्त होगा समुह से निर्मित उत्पादों को प्रोत्साहित, प्रचारित व विक्रय करने हेतु जिला मुख्यालय के सी-मार्ट केन्द्र मे स्टॉल की स्थापना की गई है।

दियों की खरीददारी करते कलेक्टर संजीव झा

जहां मिट्टी के डिजाईनर दिया तथा गोबर के दिये , बाती, साबुन, अगरबत्ती, धुप, रंगोली व सजावटी सामग्री का विक्रय किया जा रहा है। साथ ही साथ समुहों के उत्पादों का दिपावली गिफ्ट हैम्पर 749 रूपये मे उपलब्ध कराया जा रहा है। हैम्पर मे दिया, बाती, अगरबत्ती, काजू, किशमिश, चिरौंजी, चना, हल्दी, धनिया (पावडर), तिल लड्डू, मद्रासी मिक्चर, एल.ई.डी बल्ब, साबुन, चिक्की जैसे 14 उत्पादों को सामिल किया गया। निश्चित तौर पर समुह के द्वारा गोठान ग्रामों बाजार मे पसंद किया जा रहा है एवं में तैयार किया गया सामान स्थानीय त्यौहारी उत्पाद के निर्माण व विक्रय से दीदीयों को अच्छी आमदनी प्राप्त हो रही है। दिया जैसे उत्पादों को बेचने के लिए महिलाएं अपने एसएच.जी. नेटवर्क का सफलतापूर्वक उपयोग कर रहे हैं । जिला प्रशासन का सहयोग व मार्गदर्शन उत्पादक महिलाओं के जीवन मे नयी रोशनी का संचार कर रहा है।