नवाचार के अवसरों का जनहित तथा क्षेत्र के विकास में करें बेहतर उपयोग: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल


मुख्यमंत्री से परिवीक्षाधीन डिप्टी कलेक्टरों ने की सौजन्य मुलाकात

परिवीक्षाधीन डिप्टी कलेक्टरों ने मुख्यमंत्री के समक्ष साझा किए प्रशिक्षण के अनुभव

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से आज शाम यहां उनके निवास कार्यालय में छत्तीसगढ़ प्रशासन अकादमी निमोरा रायपुर में प्रशिक्षणरत परिवीक्षाधीन डिप्टी कलेक्टरों ने सौजन्य मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने परिवीक्षाधीन डिप्टी कलेक्टरों को संबोधित करते हुए कहा कि आपके पास नई सोच के साथ नवाचार करने का बहुत अच्छा अवसर हैं, इस अवसर का जनहित तथा क्षेत्र के विकास की दिशा में बेहतर से बेहतर उपयोग करें। वहीं परिवीक्षाधीन डिप्टी कलेक्टरों ने भी प्रशिक्षण को लेकर अपने अनुभव मुख्यमंत्री के समक्ष साझा किए।

मुख्यमंत्री ने परिवीक्षाधीन डिप्टी कलेक्टरों से चर्चा करते हुए कहा कि अभी तक आपने मुख्यतः थ्योरी की जानकारी ली है। थ्योरी और फील्ड के कार्य में अंतर है। छत्तीसगढ़ में जमीनी स्तर पर कई महत्वपूर्ण कार्य हो रहे हैं। छत्तीसगढ़ में लघु वनोपज सहित अनेक उत्पाद हैं, जिनके उत्पादक बाजार के अभाव में उत्पाद बेच नहीं पाते। हम हर जिले में सी-मार्ट स्टोर बना रहे हैं, जहां इन उत्पादों की बिक्री कर ग्रामीण बेहतर लाभ कमा रहे हैं। जशपुर जिले में स्वच्छता दीदीयां सी-मार्ट के उत्पादों की घर-घर जाकर मार्केटिंग कर रही हैं। ऐसे कई नवाचार और भी जिलों में हो रहे हैं, जिनसे लोगों को रोजगार मिल रहा है। वहीं परिवीक्षाधीन डिप्टी कलेक्टरों ने प्रशिक्षण के अपने अनुभव को साझा करते हुए बताया कि प्रशिक्षण के बाद कार्य और दायित्वों को लेकर उन्हें निरंतर नयी जानकारियां मिल रही हैं, जो निश्चित तौर पर फील्ड पोस्टिंग में काफी मददगार साबित होगी।

इस अवसर पर छत्तीसगढ़ प्रशासन अकादमी रायपुर महानिदेशक श्रीमती रेणु जी. पिल्ले, संचालक टी.सी. महावर, प्राध्यापक डॉ. प्रदीप शुक्ला, परिवीक्षाधीन डिप्टी कलेक्टर्स श्रीकांत कोराम, विश्वास कुमार, नीरनिधि नन्देहा, सोनाल डेविड, सुरूचि शार्दुल, सुवर्षा बंसल, सुहर्षलता वर्मा, सुऋचा चन्द्राकर, सुलेखा अजगल्ले, विकास सर्वे, अजय मोडियम, सुमीत बघेल, कमल किशोर, सुचांदनी कंवर, सुआकांक्षा पाण्डेय, डॉ. सुमित कुमार गर्ग शामिल थे।



Post Views:
0