पति की मौत के 6 साल बाद भी नहीं मिला पत्नी को बीमा सुरक्षा का लाभ



 

महासमुंद।  केन्द्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना का लाभ महासमुंद जिले में बैंक कर्मचारियों की लापरवाही के कारण हितग्राहियों को नहीं मिल पा रही है और हितग्राही सालों से बैंक के चक्कर लगाने को मजबूर है। जी हां , ऐसा ही एक मामला महासमुंद जिले में सामने आया है । जहां एक हितग्राही की मौत 2016 में एक दुर्घटना में हो गयी। उसके बाद मृतक की पत्नी इस योजना के तहत मिलने वाले दो लाख रुपयों के लिए पिछले 6 सालों से बैंक के चक्कर लगाने को मजबूर है। महिला हितग्राही आज भी बीमा क्लेम मिलने की आस लगाये हुए है। वही बैंक मैनेजर आज भी रटारटाया राग अलाप रहे है ।

यह भी पढ़ें…

महत्वाकांक्षी योजना प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना

6 वर्ष हो जाने के बाद भी नहीं मिली राशि

दरअसल महासमुंद के संजीव कुमार साहू का खाता पंजाब नेशनल बैंक में जुलाई 2016 में खुला और संजीव ने प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत अपना बीमा भी करवा रखा था। बीमा में संजीव ने नामनी अपनी पत्नी अनुसुईया साहू को बनाया था।  25 नवबंर 2016 को संजीव साहू का ट्रेन से एक्सीडेंट हो गया और उसकी मौत हो गयी ।

जिसकी जानकारी मृतक की पत्नी अनुसुईया साहू ने पंजाब नेशनल बैंक के कर्मचारियों को दे दी साथ ही सारे दस्तावेज भी उपलब्ध करा दिया, लेकिन विडम्बना है कि आज 6 वर्ष हो जाने के बाद भी पंजाब नेशनल बैंक के कर्मचारी आज तक इस महिला को बीमा की राशि दो लाख रुपये नही दिला पाये ।

महिला बैंक के चक्कर लगाने को मजबूर है । पीड़ित महिला गरीब है और बस स्टैंड में छोटी सी दुकान संचालित कर अपने बच्चों का भरण पोषण कर रही है ।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत हितग्राही को 12 रुपये का प्रीमियम जमा करना होता है और दुर्घटना में मौत हो जाने पर 30 दिवस के भीतर संबंधित बैंक को जानकारी देनी पड़ती है ।

तत्पश्चात हितग्राही के परिजन को दो लाख रुपये की राशि दी जाती है । अब देखना होगा बैंक किस प्रकार और कैसे इतने साल बाद हितग्राही को उसका लाभ दिलाती है ।