पिता की मर्जी के ख़िलाफ़ लिव-इन में रह रही बेटी भरण-पोषण की हकदार नहीं





छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाते हुए “पिता की मर्जी के खिलाफ लिव-इन में रह रही बेटी को पिता की तरफ से भरण पोषण के लिए पैसों लेने का हक नहीं है. हाई कोर्ट ने कहा कि “पिता की मर्जी के खिलाफ लिव-इन में रह रही बेटी भरण-पोषण की हकदार नहीं है” HC ने रायपुर फैमिली कोर्ट के उस आदेश को खारिज कर दिया है, जिसमें पिता से अलग रह रही बेटी को हर महीना 5 हजार रुपए देने का आदेश दिया गया था.

 


Post Views: 0