पूरी समीक्षा और जांच के बाद ही आरक्षण विधेयक पर साइन करूंगी- राज्यपाल

CG News Today



धमतरी। Reservation bill छत्तीसगढ़ में आरक्षण संशोधन के नए विधेयक के कानून बनने में अभी और समय लगना तय है, सदन में पारित होने के बाद ये बिल हस्ताक्षर के लिए राज्यपाल को भेज दिया गया है, जैसे ही इस पर राज्यपाल के हस्ताक्षर होंगे, उसी समय ये विधेयक कानून बन जायेगा।

Reservation bill  फिलहाल राज्यपाल अनुसुइया उइके इस पर फौरन हस्ताक्षर करने से परहेज कर रही है, अपने धमतरी प्रवास के दौरान खिड राज्यपाल ने इस संबंध में मीडिया से चर्चा की और विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि, आदिवासियों ने आरक्षण की मांग को लेकर राज्यव्यापी आंदोलन किया, तब खुद राज्यपाल ने सरकार को विशेष सत्र आहूत कर, बिल पारित करने की सलाह दी थी, राज्यपाल ने बताया कि अभी बिल उनकी टेबल पर है, इस मामले में विभिन्न वर्ग और जाति समुदाय वालो के भी आवेदन मिले हुए है, इस से पहले 2012 में 58 फीसदी आरक्षण वाले बिल को कोर्ट ने अवैधानिक करार दिया था,

Reservation bill  इन परिस्थितियों में नए आरक्षण बिल पर सरकार की तैयारी कितनी है, रोस्टर की क्या स्थिति है इनकी भी जांच और जानकारी जरूरी है, और इसी कारण समय लग रहा है, आरक्षण के सभी पहलुओं की जानकारी से संतुष्ट होने के फौरन बाद इस पर हस्ताक्षर कर दिए जाएंगे।