पोंडी और रजौली ग्राम गौठान का कलेक्टर श्री लंगेह ने किया निरीक्षण, समूह की दीदियों से सीधे संवाद कर जानी उनकी सफलता




महिलाओं ने की आजीविका गतिविधियां बढ़ाने की मांग, कलेक्टर ने बेहतर लाभांश मिलने दिए मार्केट और सेल चेन का विश्लेषण कर गतिविधि चयन के निर्देश
कार्य में लापरवाही पर आरएईओ को नोटिस देने के निर्देश

कोरिया 30 दिसम्बर 2022/ कलेक्टर श्री विनय कुमार लंगेह आज विकासखंड सोनहत के पोंडी और रजौली ग्राम गौठान पहुंचे। सुराजी ग्राम योजना नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी के तहत निर्मित गौठानों और यहां संचालित आजीविका गतिविधियों ने ग्रामीण महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत बनने की राह दिखाई है। साथ ही गांव में रोजगार पाने के अवसर भी पैदा किए हैं।
कलेक्टर श्री लंगेह ने पहले पोंडी गौठान भ्रमण के दौरान वर्मी खाद निर्माण कार्य से जुड़ी महिलाओं से बात कर उनसे गोबर से खाद बनाए जाने की प्रक्रिया की जानकारी लेते हुए उन्हे साठ चालीस के अनुपात के अनुसार जैविक अपषिष्ट का उपयोग का उपयोग अनिवार्य तौर पर करने कहा।इसके साथ ही उन्होंने बने हुए वर्मी खाद के उठाव और महिलाओं के समूह द्वारा बेचे गए वर्मी खाद के भुगतान की जानकारी भी प्राप्त की। पोंडी गौठान में विभिन्न आजीविकाओं में संलग्न समूहों से कलेक्टर ने सीधे संवाद कर उनकी सफलता की कहानियां सुनी और आजीविका गतिविधियों में महिलाओं की रुचि व सक्रियता देख उन्हें बेहतर काम करने प्रोत्साहित किया। सब्जी उत्पादन से जुड़ी महिला ने बताया कि बैंगन, मिर्च आदि के विक्रय से उन्हें 37 हजार 600 रुपए की कमाई हुई। वहीं वर्मी खाद निर्माण से जुड़ा समूह अब तक चार लाख तक का खाद विक्रय कर चुका है। पोंडी गौठान में स्व सहायता समूहों की महिलाओं द्वारा वर्मी खाद निर्माण, सब्जी उत्पादन, बकरी पालन, मशरूम उत्पादन, जैविक कीटनाशक निर्माण आदि आजीविका गतिविधियां संचालित की जा रही हैं।

कलेक्टर श्री लंगेह के समक्ष समूह की दीदियों ने बेहद उत्साह के साथ गतिविधियां बढ़ाने की मांग की जिसपर कलेक्टर ने बीपीएम और आरएईओ को गौठान में नई आजीविका गतिविधि के चयन हेतु काम की शुरुआत से लेकर उनके विक्रय चेन तक का विश्लेषण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आरएचओ और आरएईओ सप्ताह में दो बार गौठानों का निरीक्षण जरूर करें। मशरूम की मांग को देखते हुए कलेक्टर ने गौठान में मशरूम उत्पादन को बढ़ाने के निर्देश दिए। बाड़ी में सब्जी उत्पादन पर उन्होंने कहा कि सीजन को ध्यान में रख सब्जियों का उत्पादन करें। कई तीज त्योहारों में विशेष तरह से सब्जियां खाई जाती हैं। इन बिंदुओं को भी ध्यान में रख उत्पादन करें। इसके बाद कलेक्टर ने रजौली ग्राम गौठान का निरीक्षण किया। यहां उन्होंने वर्मी खाद निर्माण, मशरूम उत्पादन, सब्जी उत्पादन आदि का अवलोकन किया। गौठान में निरीक्षण के दौरान संतोषजनक कार्य ना दिखने पर कलेक्टर ने कार्य में लापरवाही पर आरएईओ को नोटिस देने के निर्देश दिए। उन्होंने बीपीएम को निर्देशित किया कि महिलाओं द्वारा संचालित आजीविका गतिविधियों को बेहतर करने के लिए उन्हें निरंतर प्रशिक्षण दिया जाए। इस दौरान सीईओ जिला पंचायत श्रीमती नम्रता जैन, एसडीएम एवं सीईओ जनपद पंचायत सोनहत तथा खण्ड स्तरीय अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।