प्रदुषण रहित ऊर्जा के लिए एक नई पहल, गोबर गैस से होगा बिजली का उत्पादन

CG News Today



जगदलपुर। प्रदुषण रहित ऊर्जा उत्पन्न करने के लिए भारत समेत पूरी दुनिया में प्रयास किये जा रहे है, छत्तीसगढ़ भी इसमें पीछे नहीं है पन बिजली, सोलर एनर्जी और विंड एनर्जी के बाद अब जगदलपुर शहर के डोंगाघाट में प्रदेश का पहला गोबर गैस बिजली प्लांट तैयार किया जा रहा है.

 

जानकारी के लिए बता दें कि, इस बायो गैस प्लांट के लगने के बाद यह छत्तीसगढ़ का यह पहला प्लांट होगा जहां गोबर से बिजली का उत्पादन किया जाएगा यहाँ प्रतिदिन 500 किलो गोबर का उपयोग कर प्लांट में 10 किलोवाट बिजली का उत्पादन किया जा सकेगा यहां उत्पादित होने वाली बिजली से तकरीबन 50 घर रोशन होंगे.

 

 

जगदलपुर नगर निगम आयुक्त दिनेश कुमार नाग ने जानकारी देते हुए बताया प्रदेश सरकार और भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर (बार्क) के बीच इस प्लांट को लगाने हेतु एमओयू हुआ था यहां, उत्पादित होने वाली बिजली को ग्रिड सिस्टम से कनेक्ट कर सीएसईबी को बिजली बेची जाएगी जो आगे विद्युत सप्लाई का काम भी सीएसईबी करेंगी.

 

महिला स्वसहायता समूहों की भी होगी मदद

 

नगर निगम आयुक्त ने बताया कि प्लांट में विद्युत के उत्पादन के बाद बचे हुए अपशिष्ट से महिला स्वसहायता समूह द्वारा खाद बनाया जाएगा जिसे विक्रय कर वे आमदनी हासिल कर सकेंगी.

 

सीएसईबी को बेचेंगे बिजली

 

दिनेश कुमार नाग के मुताबिक इस गोबर गैस बिजली प्लांट से उत्पन्न बिजली को पावर ग्रीड सिस्टम से कनेक्ट करके सीएसईबी को बिजली दी जाएगी जिससे निरंतर बिजली सप्लाई हो सके. इसके एवज में बिजली विभाग से भुगतान भी प्राप्त होगा.

 

 

ये भी पढ़ें…Where was the 16th police station of Raigarh built : कहां बना रायगढ़ का 16 वां पुलिस थाना ….क्या आपने भी जाना ?