प्रदेश की प्रमुख सात नदियों का पानी और माटी कलश लेकर कांग्रेस नेता पदयात्रा में होंगे शामिल



 

रायपुर। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में  छत्तीसगढ़ के कांग्रेस नेता शामिल होंगे।  26-27 नवंबर को मध्य प्रदेश के निमाड़-मालवा अंचल में प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम  के नेतृत्व  में प्रदेश की प्रमुख सात नदियों का पानी और माटी कलश लेकर यात्रा में शामिल होंगे । बता दें इस यात्रा में  जिन सात नदियों का पानी ले जाना है उनमें महानदी, अरपा पैरी ,शिवनाथ इंद्रावती , हसदेव और सौंढूर नदी है। साथ ही उस दौरान राहुल गांधी से वृक्षारोपण  भी करवाएंगे।  भारत जोड़ाे पदयात्रा में प्रदेश से 324 नेता शामिल होंगे । प्रभारी महामंत्री अमरजीत चावला ने जारी की पद यात्रियों की सूची

यह भी पढ़ें…

Chhattisgarh News : भारत जोड़ो यात्रा की शुरुआत, लोगों का मिला जनसमर्थन

बता दें कि भारत जोड़ो यात्रा जिस राज्य से नहीं गुजर रही है, वहां के पदयात्री अपने साथ अपने क्षेत्र की मिट्टी और पानी लेकर पहुंचेंगे। इसी मिट्टी-पानी से यात्रा मार्ग पर पौधारोपण होता है। कोशिश यह है कि देश की अलग-अलग संस्कृति, परंपरा और भूगोल एक-दूसरे से जुड़ते चले जाएंगे।

यह भी पढ़ें…

भारत जोड़ो यात्रा में जुड़ेंगे छत्तीसगढ़ से कई बड़े नेता, कांग्रेस ने जारी की 250 नामों की सूची

25 नवंबर को मध्य प्रदेश के लिए रवाना होंगे

गौरतलब है कि  कांग्रेस की ओर से 250 यात्री 25 नवंबर को मध्य प्रदेश के लिए रवाना होंगे। वहां 26 से 28 नवंबर तक सभी राहुल गांधी के साथ भारत जोड़ो यात्रा में भाग लेंगे। 250 नेताओं का नाम केंद्रीय कार्यालय को भेजा गया है। इसमें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्रदेश सरकार के मंत्री, वरिष्ठ पदाधिकारी और नेताओं के नाम शामिल हैं।

छत्तीसगढ़ के यात्री खरगोन जिले के खेरदा गांव से पदयात्रा में जुड़ेंगे। 26 नवंबर को मोरटक्का गांव में रात्रि विश्राम होगा। 27 नवंबर को यात्रा मोरटक्का से शुरू होकर इंदौर के महू तक जाएगी।

28 नवंबर को पदयात्रा महू से शुरू होकर इंदौर के राजबाड़ा पहुंचेगी। यहां राहुल गांधी एक जनसभा को संबोधित करने वाले हैं। उस दिन रात्रि विश्राम इंदौर के खालसा स्टेडियम में होना है। इंदौर के बाद छत्तीसगढ़ के पदयात्री वापस लौट आएंगे।

यह भी पढ़ें…

सीएम बघेल होंगे भारत जोड़ो यात्रा में शामिल, भाजपा के स्टार प्रचारकों की लिस्ट पर दिया ये बयान