बगीचा विकास खंड के छोटे से ग्राम में ही घर पर स्व अध्ययन कर की तैयारी,अभिनव सिंह ने जेईई एडवांस में हासिल किया ऑल इंडिया रैंक 3336,


खबरों और विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें,9425572733, 9300057497

जशपुर : भारत के सर्वोच्च प्रतिष्ठित भारतीय औद्योगिक संस्थानों में प्रवेश का सपना देश के लाखों युवा देखते हैं परंतु सफल होते है ऐसे युवा जो लगातार कठिन परिश्रम करके परीक्षा की तैयारी करते हैं। ऐसे ही एक जशपुर जिले के बगीचा विकासखंड के ग्रामीण ) युवक अभिनव सिंह की सफलता की कहानी है जिन्होंने बगैर किसी कोचिंग क्लास के जेईई मेंस में 99.26 परसेंटाइल और जेईई एडवांस्ड में 3336 रैंक सामान्य कैटेगरी में प्राप्त कर अपने माता पिता और जिले को गौरवान्वित किया है।
उल्लेखनीय है कि जेईई एडवांस्ड प्रवेश परीक्षा देश के 23 आईआईटी के लगभग 16000 इंजीनियरिंग के सीटों में प्रवेश हेतु आयोजित की जाती है। यह परीक्षा देश के सर्वाधिक कठिन परीक्षाओं की श्रेणी में शामिल है।
अभिनव सिंह बगीचा निवासी अरविंद कुमार सिंह के पुत्र हैं। अभिनव सिंह ने कक्षा दसवीं तक की पढ़ाई जवाहर नवोदय विद्यालय कुनकुरी से पूर्ण की है । इसी वर्ष 2022 में अभिनव ने 95.6 प्रतिशत अंकों के साथ सीबीएसई पाठ्यक्रम लेकर डीपीएस स्कूल जशपुर से 12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण की है।
अभिनव का कहना है संकल्प द्वारा संचालित क्रैश कोर्स में कुछ समय के लिए भाग लेना तैयारी के लिए काफी सहायक रहा । उन्होंने अपनी सफलता के लिए जवाहर नवोदय विद्यालय कुनकुरी , डीपीएस स्कूल के समस्त गुरुजनों के प्रति पल दिए गए मार्गदर्शन का हृदय से आभार प्रकट किया है। जेईई तैयारी के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि उन्होंने इसके लिए कोई कोचिंग सेंटर ज्वाइन नहीं किया था। उन्होंने यह भी बताया कि समय-समय पर जशपुर स्थित संकल्प के प्राचार्य एवं गुरुजनों से मार्गदर्शन लेता रहा। व्यक्तिगत रूप से संकल्प के प्राचार्य विनोद कुमार गुप्ता ने हमेशा मनोबल बढ़ाए रखा । उन्होंने अपनी सफलता के लिए कहा है कि किसी भी परीक्षा की तैयारी समय प्रबंधन के उच्च दक्षता की मांग करती है। एक अच्छी प्लानिंग को समय प्रबंधन के साथ पूरी निष्ठा के साथ क्रियान्वित करें तो किसी भी परीक्षा का परिणाम हमारी अपेक्षा के आसपास अवश्य आ सकता है।