बीजेपी और कांग्रेस पार्टी में सियासी घमासान



बिलासपुर।  भानुप्रतापपुर उपचुनाव को लेकर बीजेपी और कांग्रेस पार्टी में सियासी घमासान तेज हो गया है। दोनों पार्टी के बीच में बीजेपी के प्रत्याशी ब्रम्हानंद नेताम को लेकर बयानबाजी जारी है। चुनावी कॉउनडाउन शुरू होते ही राजनीतिक उठापटक भी तेज हो गई है। इस दौरान भानूप्रतापपुर में बीजेपी के प्रत्याशी को लेकर प्रदेश भर में चर्चा का माहौल गर्म है और इसी बीच कांग्रेस इस मुद्दे को भुनाने में लगी हुई है ।

वहीं बीजेपी ने अपने प्रत्याशी के बचाव में बिलासपुर में प्रदर्शन किया। जिसमें कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का नेहरू चौक में पुतला दहन किया। इस बीच युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच झड़प भी हुई ।

पुलिस ने पुतला दहन को बुझाने का प्रयास फायर स्ट्रीमिंग यंत्र से करना चाहा जिसे युवा मोर्चा के पदाधिकारियों ने जहरीला पदार्थ छोड़कर प्रदर्शन को दबाने का प्रयास बता डाला।

हालांकि विजुअल में ही साफ दिख रहा है कि बीजेपी कार्यकर्ताओं ने खुद फायर स्ट्रीमिंग को छीन कर कार्यकर्ताओं के ऊपर ही स्प्रे कर दिया था ।

बीजेपी ने कांग्रेस के प्रदर्शन के खिलाफ जो रणनीति बनाई युवा मोर्चा ने पूरी ताकत से उसे सफल बनाने का पूरा प्रयास किया।

युवा मोर्चा कार्यकर्ताओं ने नेहरू चौक के बीच सड़क में प्रदर्शन किया और जलते हुए पुतले को लेकर भागते तो नजर आए।

जिला कांग्रेस कमेटी ग्रामीण के अध्यक्ष विजय केसरवानी और विधायक शैलेश पांडे व कार्यकर्ताओं के बीजेपी पार्टी की राजनीतिक शुद्धिकरण को लेकर पंडितों के साथ शंख और मंत्र उच्चारण के साथ अनोखा प्रदर्शन किया।

प्रदर्शन के पहले कांग्रेस भवन में बैठक भी रखी गई इसके बावजूद प्रदर्शन में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की काफी कमी नजर आई।

जिला व पुलिस प्रशासन के द्वारा बिलासपुर सांसद व बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव के बंगले के सामने लगाई गई कड़ी सुरक्षा व्यवस्था मात्र नाटकीयता नज़र आई।

कांग्रेसी नेता व बिलासपुर विधायक शैलेष पांडेय नेताओं ने प्रदर्शन के दौरान कहा बीजेपी पार्टी ने अपनी ही बातों को गलत साबित कर दिया है। भाजपा ने जो प्रत्याशी बनाया उससे पार्टी का चाल चरित्र चेहरा स्पष्ट हुआ है। इस कृत्य से छत्तीसगढ़ कलंकित हुआ है, जिसके लिए कांग्रेस भाजपा प्रदेश अध्यक्ष को गंगाजल सौंप कर शुद्धीकरण कर रही है।