भाजपा अध्यक्ष साव की पत्रकार वार्ता का कांग्रेस ने दिया जवाब



नितिन नवीन के बयान का खंडन नहीं कर भाजपा ने माना कि वह छत्तीसगढ़ महतारी के अपमान से सहमत -कांग्रेस

छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण तत्कालीन दिग्विजय सरकार के विधानसभा प्रस्ताव से संभव हुआ

छठ में छुट्टी और हरेली में गेड़ी छत्तीसगढ़िया यह है राष्ट्रवाद

रायपुर/03 नवंबर 2022। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के पत्रकार वार्ता का जवाब देते हुये प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भाजपा प्रभारी नितिन नवीन के द्वारा छत्तीसगढ़ महतारी के अपमान संबंधी बयान के 24 घंटे बाद भी राज्य के भाजपा नेताओं द्वारा खेद प्रकट नहीं करना इस बात को स्पष्ट करता है कि भाजपा के छत्तीसगढ़ के नेता या तो नितिन नवीन के छत्तीसगढ़ महतारी के अपमान तथा छत्तीसगढ़ियावाद के विरोध के बयान से सहमत है या फिर डर के मारे उन सबकी बोलती बंद है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव ने बयान दिया लेकिन नितिन नवीन के छत्तीसगढ़ महतारी के अपमान वाले बयान पर असहमति नहीं जताई यह भाजपा का छत्तीसगढ़ विरोधी रवैया है भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अपने प्रभारी के बयान का बचाव करते नजर आ रहे है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष अपने प्रभारी के छत्तीसगढ़ अपमान का बचाव करने के लिये अर्ताकिक बातें कर रहे है। भाजपा छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण का झूठा श्रेय अपने नेताओं को देने की गलत बयानी पर विराम लगाये। छत्तीसगढ़ राज्य का निर्माण छत्तीसगढ़ महतारी के बेटों की मांग और संघर्ष से हुआ है। मध्यप्रदेश विधानसभा में जब कांग्रेस के मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और मंत्रिमंडल के सदस्य वर्तमान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, रवीन्द्र चौबे, सत्यनारायण शर्मा, धनेन्द्र साहू, स्व. महेन्द्र कर्मा आदि ने सर्वसम्मति से राज्य निर्माण का प्रस्ताव पारित करवा कर केंद्र को भेजा तब छत्तीसगढ़ राज्य का निर्माण हुआ। भाजपा इसके लिये सिर्फ अपने नेताओं को झूठा श्रेय देना बंद करें। उस समय की केंद्र सरकार के सहयोग को नकारा नहीं जा सकता लेकिन राज्य निर्माण के लिये तत्कालीन मध्य प्रदेश की दिग्विजय सरकार की भूमिका थी।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि नितिन नवीन छत्तीसगढ़ के लोगों को राष्ट्रवाद का पाठ मत पढ़ाये छत्तीसगढ़ सभी को अंगीकार करता है। नितिन नवीन को समझना चाहिये यह छत्तीसगढ़िया राष्ट्रवाद है जिसमें उनके प्रांत के छठ पर्व का भी सम्मान होता है। जो छत्तीसगढ़ से प्रेम करता है वही छत्तीसगढ़ी है। छत्तीसगढ़ के लोग भेदभाव नहीं करते लेकिन अपना अपमान भी बर्दाश्त नहीं कर सकते।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने मांग किया कि बिना किसी लागलपेट के भाजपा अपने प्रभारी के छत्तीसगढ़िया विरोधी रवैये की निःशर्त माफी मांगे। नवीन के बयान से छत्तीसगढ़ की दो करोड़ जनता की भावनायें आहत हुई है। छत्तीसगढ़ के लोग सर्वधर्म समभाव और सभी के सम्मान का भाव रखते है यही छत्तीसगढ़ का राष्ट्रवाद है। छठ में छुट्टी और सीएम हाउस में हरेली यही छत्तीसगढ़िया राष्ट्रवाद है। दूसरों की भावना के सम्मान के साथ अपने स्वाभिमान का मान ही छत्तीसगढ़ की संस्कृति है। भाजपा के राष्ट्रवाद में नफरत और विद्वेष असहिष्णुता है। कांग्रेस के और छत्तीसगढ़ के राष्ट्रवाद में सामंजस्य भाईचारा सहिष्णुता है। इसका यह मतलब नहीं कि कोई भी व्यक्ति हमारी सभ्यता संस्कृति और भावनाओं का मजाक उड़ा जायेगा और हम बर्दाश्त करेंगे।