महिला एवं बाल विभाग में जमकर धांधली, सरकारी योजना में कर्मचारी फेर रहे हैं पानी



 

राजनांदगांव। नवगठित जिले खैरागढ़- छुईखदान- गंडई में महिला एवं बाल विभाग में जमकर धांधली चल रही है। राज्य सरकार द्वारा संचालित योजनाओं को पलीता लगाने में अफसर कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। दरअसल सलोनी सेक्टर की आंगनबाड़ी सुपरवाइजर गायत्री ठाकुर का एक ऑडियो सामने आया है, जिसमें वे अपने सेक्टर की आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को कुपोषित बच्चों की भी ऊंचाई और वजन रजिस्टर में बढ़ाकर दर्ज करने के लिए दबाव बनाती हुई सुनाई पड़ रही हैं।

प्रशासन अधिकारी नवगठित जिले खैरागढ़- छुईखदान- गंडई में राज्य सरकार की महती योजनाओं को कागजों में समेटने की कोशिश में जुटे हुए हैं, जिसके लिए वे जमीनी स्तर पर काम करने वाले आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं पर दबाव भी बना रहे हैं।

इसका ऑडियो भी सामने आया है, आरोप है कि यह ऑडियो गायत्री ठाकुर का है, ऑडियो में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को रजिस्टर में दर्ज गंभीर श्रेणी के बच्चों को सामान्य श्रेणी में दर्ज करने की बात कही जा रही है।

यानि कुपोषण दूर करने की सरकार की मंशा पर विभाग के सुपरवाइजर किस कदर पानी फेर रहे हैं, इसका अंदाजा इस पूरे मामले से लगाया जा सकता है। बहरहाल, देखने वाली बात यह होगी कि कुपोषण जैसी गंभीर समस्या को मजाक समझने वाले सुपरवाइजर पर लगे इन आरोपों की निष्पक्षता से जांच होगी या फिर हकीकत को छिपाने के लिए पीड़ित आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को ही निशाना बनाया जाएगा..?

इस संबन्ध में सलोनी की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता रामकली यादव ने बताया कि- हमारी सुपरवाइजर गायत्री ठाकुर द्वारा कुपोषित बच्चों की ऊंचाई और वजन बढ़ाकर दर्ज करने के लिए कहा जा रहा है। हमने रजिस्टर में जो सही आंकड़े दर्ज किए हैं, उन पर सफेदा लगाकर फर्जी आंकड़ें दर्ज करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है, चाहे बच्चा कुपोषित ही रहे। कोई कार्रवाई न हो, ऊपर से कोई टीम न आये, पकड़े मत जाओ इसलिये सुधारने के लिए कहा जा रहा है।