महिला समूहों द्वारा बनाए गए समानों को खरीदने लोगों का हुजूम



राज्योत्सव स्थल में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के स्टॉल पर महिलाओं द्वारा निर्मित सामग्रियों की प्रदर्शनी एवं विक्रय केंद्र

मोजाम्बिक के कलाकारों ने भी ग्रामीण विकास की योजनाओं को जाना-समझा

रायपुर. 4 नवम्बर 2022. छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के मौके पर राज्योत्सव स्थल राजधानी रायपुर के साइंस कॉलेज मैदान में 1 नवम्बर से संचालित पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की प्रदर्शनी में महिला समूहों द्वारा निर्मित समानों की खरीदी के लिए लोगों का खासा हुजूम उमड़ रहा है। स्टॉल में संचालित प्रदर्शनी एवं विक्रय केंद्र में स्वसहायता समूहों की महिलाओं द्वारा बनाए गए मोबाइल पॉकेट, केले के रेशे से निर्मित बैग, कुकीज, मिट्टी के दीये, सजावट के विभिन्न समान, मोमबत्ती, फ्लोर क्लीनर, हैंडवॉश और साबुनों की अच्छी बिक्री हो रही है। राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में भाग लेने आए देश-विदेश के कलाकार भी स्टॉल का भ्रमण कर राज्य में ग्रामीण विकास की योजनाओं को देख-समझ रहे हैं। मोजाम्बिक के कलाकारों ने 3 नवम्बर को पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के स्टॉल पहुंचकर योजनाओं की जानकारी ली।

राज्योत्सव स्थल पर पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की विकास प्रदर्शनी में आकर्षक मॉडलों के जरिए विभागीय योजनाओं से दर्शकों को रू-ब-रू कराया जा रहा है। मॉडलों के माध्यम से नरवा उपचार, स्वच्छ भारत मिशन और महात्मा गांधी ग्रामीण औद्योगिक पार्क की गतिविधियों की जानकारी प्रदान की जा रही है। विकास प्रदर्शनी में राज्य में प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना और मुख्यमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के अंतर्गत हो रहे सड़क निर्माण की जानकारी भी प्रदर्शित की गई है। यहां मनरेगा (महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना) की उपलब्धियों को भी दर्शाया गया है।