मिड डे मील के तहत बनाये जाने वाले भोजन के लिए बच्चों से



महासमुंद: महासमुंद जिले में मिड डे मील के तहत बनाये जाने वाले भोजन के लिए बच्चों से लकड़ी ढुलाने का विडियो वायरल हुआ है। वायरल विडियो में बच्चे झाड़ियों से लकड़ी को निकालकर स्कूल ले जाते हुए दिखाई दे रहे है। ये बच्चे शासकीय पूर्व उच्च माध्यमिक शाला बेलमुण्डी सरायपाली के है। जहां कक्षा 6 वीं , 7 वीं , 8 वीं के 80 बच्चे अध्ययनरत है, इन बच्चों को पढ़ाने के लिए 6 शिक्षक पदस्थ है।

खारून नदी में नेहरू युवा केंद्र द्वारा चलाया महा स्वच्छता अभियान, विधायक विकास उपाध्याय रहे उपस्थित

दो दिन पूर्व स्व सहायता समूह की महिलाओं ने मिड डे मील बनाने से इंकार कर दिया था। इसके बाद प्रधान पाठक ने एक दर्जन बच्चों को सायकल लेकर आधा किमी दूर झाड़ियों से लकड़ी लेने भेज दिया। उसके बाद बच्चे अपने गुरु के आदेश पर लकड़ी ला रहे थे कि किसी ने विडियो बनाकर वायरल कर दिया।

दिल्ली चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस आज, हो सकती है एमसीडी चुनाव की घोषणा

विडियो वायरल होने के बाद शिक्षा विभाग में हडकम्प मच गया और आनन फानन में ब्लाक शिक्षा अधिकारी जांच में स्कूल पहुंचे तो पूरा मामला सच निकला। जहां बच्चे शिक्षक के कहने पर लकड़ी लाने की बात कह रहे है, वही आला अधिकारी रटारटाया राग अलापते हुए जांच में सही पाये जाने की पुष्टि करते हुए निलंबन की कार्यवाही की बात कह रहे है । गौरतलब है कि बच्चे आने वाले भविष्य के राष्ट्र निर्माता होते है और शिक्षक इन बच्चों से लकड़ी ढुलाई करवा रहे है, जो शिक्षा विभाग के कार्यप्रणाली पर एक बड़ा सवाल खड़ा कर रहा है।

सुभाष की बात- आदिम लय की सामूहिकता का प्रतीक है आदिवासी नृत्य महोत्सव