रजिस्ट्री शून्य कराने रायपुर के कारोबारी से धोखाधड़ी, पहले दे चुका है 91 लाख रुपए…

CG News Today



राजधानी रायपुर में कारोबारी से जमीन सौदा कर अलग-अलग किस्तों में चेक और नगद के माध्यम से राशि भुगतान करने के बाद भी रजिस्ट्री कैंसिल कराने के नाम पर कारोबारी को ब्लैकमेल कर धमकी देने धोखाधड़ी के मामले में गोल बाजार थाना में अपराध दर्ज किया गया है लेकिन अब तक महीनों बीत जाने के बाद भी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है।

 

बता दें कि,  91 लाख रुपए लेने के बाद भी रजिस्ट्री कैंसिल कराने के नाम पर कारोबारी को ब्लैकमेल करने वालों के खिलाफ पुलिस ने अपराध दर्ज तो कर लिया लेकिन अब तक गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। मामले में पति-पत्नी भी शामिल है। आरोपियों ने साजिश के तहत जमीन का सौदा किया। रकम लेकर रजिस्ट्री और पंजीयन कराया। इसके बाद पूरा लेन-देन बैंकिंग में दिखाने के लिए। फिर उन चेकों को कैश नहीं कराया और रकम की मांग करने लगे। रकम नहीं देने पर रजिस्ट्री कैसिल कराने की धमकी देने लगे। ऐसा करके और रकम की मांग करने लगे।

मामले को लेकर प्रार्थी अमित जीवन ने बताया की वर्ष 2018 में वर्षा पारख से दुर्ग की जमीन का 80 लाख में सौदा किया था। रकम की लेन-देन वर्षा के पावर ऑफ अटार्नी निशा कोठारी और उनके पति दीपक कोठारी से हुआ। इसमें अंकित जैन भी शामिल था। जमीन बेचने के के नाम पर 3-3 लाख के तीन चेक देने के बाद रजि और पंजीयन करवाने तक अलग-अलग काम से अमित ने कुल तीनो को 91 लाख रुपए दे दिए इसके रजिस्ट्री और पंजीयन भी हो गया।अब तय रकम से ज्यादा की राशि वापस करने के बजाय रजिस्ट्री कैंसिल करवाने में धमकी देने में लगे हुए है।

गोलबाजार पुलिस ने वर्षा पारख, निशा कोठारी, अंकित कर जैन और दीपक कोठारी के खिलाफ धोखाधड़ी और ब्लैकमेलिंग का मामला दर्ज किया है। बताया जा रहा आरोपियों की जमानत लोवर कोर्ट में खारिज हो चुकी है। लेकिन अब तक चारों आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होना पुलिस के कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान उठ रहा है।

 

Read More- Omicron Symptoms ‘Cold-Like’: What Does UK Study Say on COVID Variant?