राज्योत्सव 2022 ,जलजीवन गांव की जीवंत और मनमोहक झांकी बनी आकर्षण का केन्द्र



लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के स्टॉल में ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल सुविधा के लिए कराए जा रहे कार्याें का विहंगम दृश्य

रायपुर, 03 नवम्बर 2022/राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव एवं राज्योत्सव 2022 के मौके पर राजधानी रायपुर के साइंस कॉलेज मैदान में विभागीय विकास प्रदर्शनी के दौरान लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा प्रदेश के ग्रामीण अंचल ग्रामीणों को शुद्ध पेयजल की आपूर्ति के लिए विकसित किए जा रहे सिस्टम को बड़े ही सलीके से प्रदर्शित किया गया है। जलजीवन मिशन पर आधारित झांकी में हर घर नल से जल की आपूर्ति का जीवंत मॉडल जलजीवन गांव के रूप में दर्शाया गया है। गांवों में पीने की पानी की शुद्ध आपूर्ति के लिए उच्च स्तरीय पेयजल टंकी के निर्माण सहित वाटर सप्लाई के लिए पाईप लाईन का निर्माण और इसके माध्यम से घर-घर तक जलापूर्ति की व्यवस्था का प्रदर्शन किया गया है। जिसे देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के स्टॉल में पहुंच रहे है।

जलजीवन मिशन के तहत राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों की सभी घरों में वर्ष 2024 तक नल के माध्यम से शुद्ध पेयजल की आपूर्ति के लिए पूरे छत्तीसगढ़ में युद्धस्तर पर काम कराए जा रहे है। गांव-गांव में पेयजल टंकी के निर्माण के साथ ही घरों तक जलापूर्ति के लिए पाईप लाईन बिछाकर नल कनेक्शन दिए जाने का काम तेजी से जारी है। जलजीवन मिशन राज्य सरकार और केन्द्र सरकार की बराबर की भागीदारी के साथ-साथ जनभागीदारी वाला प्रोजेक्ट है। इसके तहत घरों के अलावा सभी शासकीय संस्थाओं, शालाओं और आंगनबाड़ियों में भी रनिंग वाटर की सुविधा मुहैया की जानी है। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा प्रदर्शनी स्टॉल में फ्लैक्स, पोस्टर और एलईडी के माध्यम से जल जीवन मिशन के कार्याें की जानकारी देने के साथ ही जल की गुणवत्ता के परीक्षण की भी जानकारी दी जा रही है। स्टॉल में विभागीय अधिकारियों एवं कमिस्ट द्वारा फिल्ड टेस्ट कीट द्वारा जल गुणवत्ता परीक्षण का भी प्रदर्शन किया जा रहा है।