शासकीय दूधाधारी बजरंग महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय में प्राचार्य



RAIPUR: शासकीय दूधाधारी बजरंग महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय में प्राचार्य डॉ किरण गजपाल के मार्गदर्शन में महिला प्रकोष्ठ के द्वारा health and well being विषय पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। यह कार्यक्रम महिला प्रकोष्ठ एवं IQAC के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित किया गया। इसमें महिला प्रकोष्ठ के संयोजक डॉक्टर नंदा गुरवारा ने विमेन सेल के उद्देश्य, एनीमिया एवं स्ट्रेस मैनेजमेंट के बारे में बताया।

नशे में धुत हाेकर शिक्षक पहुंचा स्कूल, रसाेइये काे दी गालियां…

कार्यक्रम में एनीमिया एवं तनाव प्रबंधन के ऊपर विशेष तौर पर जोर दिया गया। एनीमिया के ऊपर प्रकाश डालते हुए डॉक्टर नंदा गुरुवारा, ने बताया कि हीमोग्लोबिन स्तर व्यक्ति के पोषक स्तर का संकेतक होता है, व किन कारणों से एनीमिया होता है एवं उसके सुधार हेतु भोजन संबंधी आदतें एवं आवश्यक पूरक आहार के विषय में भी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि वर्तमान समय की में महिलाओं एवं यहां तक कि छोटे बच्चों में भी स्ट्रेस देखा जा रहा है। कार्यक्रम में डॉक्टर नंदा गुरुवारा ने महिला उत्पीड़न से बचने एवं उसकी कार्यवाही होने के लिए छात्राओं को 1091 एवं 181 नंबर पर संपर्क करने के लिए जानकारी दी।

Bihar by-election : दो विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए वोटों की गिनती जारी

आइक्यूएसी प्रभारी डॉ उषा किरण अग्रवाल ने महिलाएं सशक्तीकरण प्रकाश डाला एवं छात्राओं को आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया। छात्राओं को महिला प्रकोष्ठ की संयोजक डॉ नंदा गुरवारा एवं सदस्य डॉ अनुभा झा, डॉ रिचा शर्मा, डॉ सीमा खान ने महिला प्रकोष्ठ की जानकारी दी एवं आगामी कार्यक्रमों के विषय में भी छात्राओं को अवगत कराया। अंत में डॉक्टर नंदा गुरवारा ने धन्यवाद ग्यापन किया। कार्यक्रम में गृह विज्ञान विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ रश्मि मिंज, डॉ मधु, डॉ शिप्रा बैनर्जी, डॉ ज्योति मिश्रा, डॉ स्वाति सोनी, दीप्ति चंद्राकर, श्रेया राठी आदि मौजूद रहे। कार्यक्रम में विभिन्न संकाय की लगभग 120 छात्राएं मौजूद रहीं।

हिंदी साहित्य के वरिष्ठ मार्क्सवाद आलोचक डॉ. मैनेजर पाण्डेय का निधन