शिक्षक की मांग को लेकर पालकों ने



बेमेतरा । किसी भी राज्य के विकास में शिक्षा का बहुत बड़ा योगदान होता है।  लेकिन विकास के लिए शिक्षा की आधारभूत समस्याओं को दूर करनी होती है और स्कूल का आधार एक शिक्षक होता है जहां वो अपने उपस्थिति में बच्चों का भविष्य गढ़ता है। लेकिन इसके विपरीत छत्तीसगढ़ राज्य के बेमेतरा जिला में शिक्षकों की कमी को लेकर स्कूल में तालाबंदी का दौर थम नहीं रहा है। शुक्रवार को एक बार फिर पालकों ने जिले का गौरव कहे जाने वाले CBSE  बेसिक स्कूल में शिक्षकों की मांग को लेकर ताला जड़ दिया है।

यह भी पढ़ें…

शिक्षकों के अभाव से परेशान पालकों ने स्कूल में जड़ा ताला…

स्कूल में दूसरी बार तालाबंदी

बता दें कि बेसिक स्कूल में शिक्षकों की कमी को लेकर स्कूल में दूसरी बार तालाबंदी की गई है ।  इसके पहले भी  तालाबंदी होने के बाद हिंदी माध्यम के 4 शिक्षकों की व्यवस्था विभाग के द्वारा की गई थी। लेकिन शिक्षक हिंदी माध्यम के होने का हवाला देते हुए  और CBSE अंग्रेजी माध्यम में पढ़ाने में असुविधा जताते हुए बीईओ को लिखित में आवेदन दिया और बच्चों को पढ़ाने में असुविधा होने की बात कही। साथ ही बच्चों के परीक्षा परिणाम प्रभावित होने की बात कहते हुए  जिम्मेदारी लेने से इंकार किया है।

यह भी पढ़ें…

CG Job Alert : शिक्षकों के लिए सुनहरा अवसर, सरकारी स्कूलों में होगी 10 हजार शिक्षकों की भर्ती

पालकों में शिक्षा विभाग के प्रति काफी रोष 

जिसके बाद इन सारी समस्याओं को लेकर  पालकों में शिक्षा विभाग के प्रति काफी रोष  है और पालकों ने योग्य शिक्षक की मांग को लेकर फिर से स्कूल में ताला जड़ दिया है।  वहीं मौके पर बीईओ पहुंचे और ताला खोलने पालको से बात की लेकिन बात नहीं बनी।

डीईओ ने योग्य शिक्षक व्यवस्था का दिया आश्वासन

वहीं इस दौरान किसान नेता योगेश तिवारी भी मौके पर पहुंचे और पालकों से बात की, साथ ही पालकों की मांग को लेकर जिला शिक्षा अधिकारी से फोन पर बात की। डीईओ ने योग्य शिक्षक व्यवस्था करने आश्वासन दिया है। इसके अलावा इस संबंध में पालको के साथ मीटिंग रखने की बात कही है।  डीईओ के आश्वासन देने के बाद ताला खोला गया । अब देखना यह होगा कि बच्चों को योग्य शिक्षक कब तक मिल पाता है ।

यह भी पढ़ें…

स्वामी आत्मानंद स्कूल के शिक्षकों की कल से होगी ट्रेनिंग, एक बैच में 50 शिक्षकों को दिया जाएगा प्रशिक्षण