शिशु संरक्षण माह की शुरूआत, माहभर होगी कुपोषित बच्चों की पहचान


बिलासपुर । बच्चों के संपूर्ण विकास के मद्देनजर “शिशु संरक्षण माह” का शुभारंभ मंगलवार को हुआ। 14 अक्टूबर तक चलने वाले इस माह का शुभारंभ जिला अस्पताल में वरिष्ठ शिशु रोग विशेषज्ञ एवं पूर्व राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ. अमर सिंह ठाकुर द्वारा किया गया।

शिशु संरक्षण माह के दौरान बच्चों को विटामिन ए और आयरन सिरप की खुराक सप्ताह में दो बार यानि प्रत्येक मंगलवार व शुक्रवार को दी जाएगी, जिससे शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के बच्चों का स्वास्थ्य संवर्धन किया जाएगा। साथ ही बच्चों को रतौंधी और एनीमिया से बचाव के लिए विटामिन-ए तथा आयरन फोलिक एसिड सिरप भी पिलाया जाएगा। बच्चों के संपूर्ण विकास के लिए आयरन और विटामिन ए की खुराक जरूरी है, अभियान के तहत इसकी जानकारी जनमानस को देकर समुदाय में जागरूकता का प्रयास भी किया जाएगा।

इस संबंध में सीएमएचओ डॉ. अनिल श्रीवास्तव ने बताया: “रोग प्रतिरोधक क्षमता बीमारी से बचाने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है। पौष्टिक आहार के साथ ही बच्चों को विटामिन एवं आयरन देना बहुत जरूरी है ताकि उनमें रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित हो सके। विटामिन ए की खुराक से बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। साथ ही कुपोषण में कमी भी आती है। यह खुराक नौ माह से 5 साल तक के बच्चों को 6 माह में एक बार दी जाती है । इसकी कमीं से बच्चों आंखों की रोशनी पर असर पड़ता है।

जिले में 13 सितंबर से 14 अक्टूबर तक शिशु संरक्षण माह का आयोजन किया गया है। जिसमें बच्चों के स्वास्थ्य संवर्धन संबंधी विशेष अभियान विकासखंड स्तर पर चलाया जाएगा। एएनएम और मितानिन भी इस कार्यक्रम को सफल बनाने में सहयोग करेंगी। सत्र स्थल पर किसी बच्चे का वजन मानक वजन से कम होने की स्थिति में उसको तुरंत पोषण पुनर्वास केंद्र भेजकर सुपोषित करने का कार्य किया जाएगा

सीएमएचओ ने बच्चों के अभिभावकों से अनुरोध किया है कि वह 14 अक्टूबर तक चलने वाले शिशु संरक्षण माह के दौरान 6 माह से 5 वर्ष तक के बच्चों को सत्र स्थल पर लेकर अवश्य पहुंचे।

इस अवसर पर डॉ. अमर सिंह ठाकुर ने बताया: “आयरन और विटामिन ए की खुराक से बच्चों के पोषण स्तर में सुधार आता है। यह खुराक नहीं पीने वाले बच्चों का शारीरिक और मानसिक विकास प्रभावित होता है। बच्चों के संपूर्ण विकास के लिए आयरन और विटामिन ए की खुराक जरूरी है। इसलिए इस आयुवर्ग के सभी बच्चों को विटामिन ए और आयरन सिरप की खुराक अवश्य पिलाया जाना चाहिए।“ इस मौके पर सिविल सर्जन डॉ. अनिल गुप्ता, आरएमओ डॉ. दुधेश्वर, जिला अस्पताल के समस्त स्टाफ एवं क्षेत्र मितानिन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता उपस्थित रहीं

कोविड नियमों का होगा पालन – प्रजनन, मातृ, नवजात, बाल और किशोर स्वास्थ्य (आरएमएनसीएचए) के जिला सलाहकार हमीत कश्यप ने बताया: “शिशु संरक्षण माह के दौरान बच्चों को विटामिन ए और आयरन सिरप की खुराक कोविड-19 नियमों का पालन करते हुए ही दी जाएगी।

इस दौरान स्वच्छता एवं शारीरिक दूरी का भी ध्यान रखा जाएगा । 13 सितंबर, 16 सितंबर, 20 सितंबर, 23 सितंबर, 27 सितंबर, 30 सितंबर, 04 अक्टूबर, 07 अक्टूबर, 11 अक्टूबर, 14 अक्टूबर को सत्र आयोजित होगा। अभिभावकों को इसकी जानकारी पहले ही दे दी जाएगी ताकि वह बच्चों को समय पर स्वास्थ्य केंद्र लाकर इन दवाइयों की खुराक बच्चों को दिलवा सकें।