सरकार ने समीर विश्नोई को चिप्स से हटाया, ED ने किया था गिरफ्तार, रितेश कुमार अग्रवाल होंगे नए CEO…आदेश जारी देंखे





प्रवर्तन निदेशालय-ED की गिरफ्त में आये IAS अधिकारी समीर विश्नोई को छत्तीसगढ़ इफोटेक प्रमोशन सोसाइटी-चिप्स से हटा दिया गया है। सामान्य प्रशासन विभाग ने 2012 बैच के IAS अधिकारी रितेश कुमार अग्रवाल को चिप्स का मुख्य कार्यपालन अधिकारी-CEO नियुक्त कर दिया है। रितेश छत्तीसगढ़ पाठ्य पुस्तक निगम के प्रबंध संचालक हैं। मार्कफेड में भी विश्नोई की जगह नई व्यवस्था की जा रही है।

2009 बैच के IAS अधिकारी समीर विश्नोई इस साल जनवरी में चिप्स के CEO बनाए गए थे। सितम्बर में उन्हें मार्कफेड के प्रबंध संचालक की अतिरिक्त जिम्मेदारी भी दे दी गई। केंद्र सरकार की जांच एजेंसी ED ने 11 अक्टूबर की सुबह प्रदेश भर में छापा डाला था। यह कार्रवाई समीर विश्नोई के घर और दफ्तर पर भी हुई।

सामान्य प्रशासन विभाग ने यह नया आदेश जारी किया है।

तलाशी के दौरान विश्नोई के घर से 47 लाख रुपए नकद और दो करोड़ रुपए से अधिक के गहने बरामद हुए। बाद में एजेंसी ने विश्नोई को गिरफ्तार कर आठ दिन की रिमांड पर ले लिया। उनसे लगातार पूछताछ जारी है। इस बीच ED की टीम तीन बार चिप्स के रायपुर स्थिति मुख्यालय की तलाशी ले चुकी है। विश्नोई की रिमांड अवधि 21 अक्टूबर को पूरी हो रही है। इस बीच सामान्य प्रशासन विभाग के सचिव डॉ. कमलप्रीत सिंह ने चिप्स के CEO पद पर रितेश अग्रवाल की नियुक्ति का आदेश जारी कर दिया है।

छत्तीसगढ़ में धान की सरकारी खरीदी मार्कफेड के जरिए होती है। इस साल पहली बार एक नवम्बर से इसकी शुरुआत हो रही है। समीर विश्नोई मार्कफेड के प्रबंध संचालक हैं। वे एक सप्ताह से ED की हिरासत में हैं। ऐसे में वहां व्यवस्था प्रभावित हो रही है। बताया जा रहा है वहां भी नये MD की नियुक्ति हो रही है।



Post Views:
2