स्कूली वाहन के पलटने से 4 बच्चे घायल ,अब तक निजी स्कूल प्रबंधन सहित वाहन चालक पर कोई कार्यवाही नहीं।


रुपनारायण सिंह/जनसंवाद/भटगांव

भटगांव—– – नगर पंचायत भटगांव में एक निजी स्कूल विवेकानंद पब्लिक स्कूल का वाहन नाला में गिरने का मामला सामनें आया था। उस दौरान उस घटना में घायल बच्चों का ईलाज निजी अस्पताल में किया गया था। यह मामला आज दो दिन से अधिक होने को है परन्तु अब तक निजी स्कूल संचालक पर शिक्षा विभाग द्वारा किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं किया गया। जो क्षेत्र में चर्चा का विषय बन गया है। आम लोंगों के बीच से यह बात निकलकर सामने आ रहा है कि..जिम्मेदार अधिकारी इस घटना पर गंभीरता नहीं दिखाया और निजी स्कूल प्रबंधन को बचाने का प्रयास किया जा रहा है। शायद यही वजह है कि इस मामले में निजी स्कूल प्रबंधन पर जिम्मेदार अधिकारी मेहरबान है।
घटना के बाद जब मीडिया टीम द्वारा विकासखंड शिक्षाधिकारी को फोन कर अब तक कार्यवाही नहीं होने सम्बन्धी सवाल किया गया तो उसके द्वारा बताया गया कि.. जो वाहन नालें में गिरी है उनको बच्चों के अभिभावक खुद हायर कर बच्चों को लाने – लेजाने रखे थे । जबकि वास्तव में ऐसा नहीं है। वाहन को स्वयं निजी स्कूल प्रबंधन द्वारा बच्चों को लाने और लेजाने रखा था। इस बात को स्वयं स्कूल प्रबंधन के कुछ लोग मीडिया टीम के सामने कबूल किया जिस बात की साक्ष्य मीडिया के पास सुरक्षित हैं।
एक ओर विकासखंड शिक्षाधिकारी द्वारा ए कहना कि पालकों द्वारा खुद हॉयर कर बच्चों को लाने-छोड़ने रखा था।…… मामले को दबाने और स्कूल प्रबंधन को बचाने सहित सरंक्षण देने जैसे इशारे की ओर संकेत करना है। हालांकि मीडिया को गोलमोल जवाब देकर यह विश्वास जरूर दिलाया जा रहा कि इस मामलें में वहाँ के संकुल समन्वयक को आदेशित किया गया है और मौके पर जाकर स्कूल संचालक से बयान लेकर उस पर उचित कार्यवाही जरूर करेगा दोषी को बख्शा नहीं जावेगा।
तो वहीं दूसरे तरफ इस मामलें में संसदीय सचिव विधायक चंद्रदेवराय भी मीडिया को बताया कि हमने भी इस मामलें में सम्बंधित विभाग को निर्देशित किया है और पुलिस विभाग द्वारा जाँच चल रही है जो भी दोषी पायेगा उस पर कार्यवाही किया जाएगा।

ऐसे में अब देखना होगा कि.. क्या वास्तव में निजी स्कूल प्रबंधन पर गाज गिरेगा या यूँही कार्यवाही के नाम पर केवल और केवल खानापूर्ति कर दरकिनार किया जायेगा।

कथन – राजेन्द्र कुमार जोशी (विकासखंड शिक्षाधिकारी बिलाईगढ़)

कथन – चंद्रदेवराय (संसदीय सचिव विधायक बिलाईगढ़)