हिंदू समाज ने बंद किया शहर, आरोपितों पर

CG News Today



Love Jihad Case In Cg : हिंदू समाज ने बंद किया शहर, आरोपितों पर कार्रवाई के लिए राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

Love Jihad Case In Cg : हिंदू समुदाय के लोगों ने अधिकारियों के साथ बैठक कर क्षेत्र में राज्य

के बाहर से आने वाले मुस्लिम समुदाय के लोगों को लेकर चिंता जताई.

https://aajkijandhara.com/supplementary-budget-breaking/

इस दौरान हिंदू समाज के लोगों ने कहा कि दूसरे राज्यों से अपराधी

किस्म के लोग रोजगार के नाम पर यहां आते हैं और कुछ समय रहने

के बाद बड़े अपराध करते हैं, फिर यहां से भाग जाते हैं.

क्या है मामला, पढ़ें पूरी खबर…

जितेंद्र सोनी/जशपुर। छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में लव जिहाद

का मामला अब तूल पकड़ने लगा है. इसी बात को लेकर

शुक्रवार को समस्त हिंदू समाज के लोगों ने पत्थलगांव

बंद का आह्वान किया था. इसको लेकर सर्व हिन्दू

समाज ने आज पत्थलगांव को भी बंद कर दिया।

पत्थलगांव कस्बे में पूर्ण बंद का असर सुबह से

ही देखने को मिला. इस बंद के दौरान हिंदू समाज

के लोगों ने पंचायती धर्मशाला में राजस्व अनुविभागीय

अधिकारी व पुलिस अनुविभागीय अधिकारी को मुस्लिम

युवकों पर कार्रवाई करने के लिए राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा.

इसके साथ ही क्षेत्र में राज्य के बाहर से आने वाले मुस्लिम

समुदाय के लोगों के बारे में अधिकारियों के साथ बैठक

कर लोगों ने चिंता व्यक्त की. इस दौरान हिंदू समाज के

लोगों ने कहा कि दूसरे राज्यों से अपराधी किस्म के लोग

रोजगार के नाम पर यहां आते हैं और कुछ समय रहने के

बाद बड़े अपराध करते हैं, फिर यहां से भाग जाते हैं.

इन बातों को गंभीरता से लेते हुए जांच की जाए ताकि जशपुर जिला सुरक्षित रहे।

धर्मांतरण का हलफनामा सामने आने पर बवाल हो गया

गौरतलब है कि पूरा विवाद करीब 15 दिन पहले उस समय शुरू हुआ जब

कोतवाली थाना क्षेत्र की एक युवती घर से लापता हो गई. पुलिस ने

परिजनों की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए युवती को मुस्लिम युवक

के घर से बरामद कर सखी वन स्टॉप सेंटर भेज दिया. दूसरे धर्म की

युवती ने काउंसलिंग में बताया कि वह मुस्लिम युवक शाहबाज

अंसारी से प्रेम करती है और उसके साथ रहना चाहती है।

वह अपने माता-पिता के साथ नहीं जाना चाहती।

इसके बाद युवती को युवक के हवाले ही कर दिया गया,

लेकिन मंगलवार को उस समय माहौल गर्म हो गया

जब युवती के धर्मांतरण का हलफनामा सामने आया.

यह बात सामने आते ही नगरवासी आक्रोशित हो गए।

मंगलवार सुबह दोनों समुदाय के युवकों के बीच मामूली कहासुनी हो गई।

समझाइश के बाद दोनों पक्षों में सुलह हो गई,

लेकिन शाम होते-होते मामले ने सांप्रदायिक रंग ले लिया।

बालिका समाज के लोगों ने एकजुट होकर रैली की शक्ल में

नारेबाजी की और पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे। वे

आरोपी लड़के की गिरफ्तारी की मांग करने लगे। वहीं परिजनों का दावा है

कि बच्ची की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है. पिछले 2 साल से

उनका इलाज चल रहा है। ऐसे में लोगों ने दबाव में आकर हलफनामे पर

हस्ताक्षर करने की आशंका भी जताई है।

जबरन धर्मांतरण का आरोप

इधर एएसपी उमेश कश्यप ने बताया कि हिंदू समुदाय के लोग और लड़की के पिता एसपी कार्यालय में आवेदन करने आए थे. उसने शाहबाज अंसारी नाम के युवक पर उसकी लड़की को ले जाने और धर्म परिवर्तन का शपथ पत्र बनवाने का दबाव बनाने का आरोप लगाया है। इसकी जांच की जाएगी। जांच के बाद जो भी सामने आएगा उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

युवती पहले भी युवक के साथ मिली थी

एएसपी ने बताया कि वर्ष 2021 में भी युवती कहीं चली गई थी. परिजनों ने शहर कोतवाली थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। उस समय धारा 363 के तहत मामला दर्ज किया गया था। अगले दिन बच्ची को बरामद कर उसके माता-पिता को सौंप दिया गया था। और 6 नवंबर 2022 को एक बार फिर लड़की शाहबाज अंसारी के साथ चली गई। परिजनों ने एक बार फिर थाने में शिकायत दर्ज कराई है। इसके बाद पुलिस ने फिर उसे युवक के पास से बरामद कर लिया और उसकी काउंसलिंग की गई।