कम्युनिटी स्प्रेड का खतरा बढ़ा, मगर स्वस्थ होने की दर 10 दिन में 37 फीसदी से बढ़कर 63% हुई; अब रायपुर में घर-घर सैंपल लिए जाएंगे , June 22, 2020 at 11:11AM

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण के कम्युनिटी स्प्रेड का खतरा बढ़ गया है। प्रदेश में अब ऐसे मरीज सामने आ रहे हैं, जिनकी कोई ट्रेवल हिस्ट्री नहीं है। राजनांदगांव में कोरोना संक्रमित मृत अधेड़ के संपर्क में आकर 49 लोग पॉजिटिव हुए हैं। ऐसे ही रायपुर में 6 साल का बच्चा घर से बाहर निकले बिना ही संक्रमित हो गया। भिलाई और बिलासपुर में भी ऐसे ही मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे में रायपुर में अब घर-घर जाकर सैंपल लिए जाएंगे।

दुर्ग जिले में रविवार को कोरोना संक्रमण के 4 नए मामले सामने आए थे। इनमें बीएसएफ के 3 जवान भी शामिल हैं। इन्हें कांकेर जाना था, लेकिन ट्रेन से आने पर इन्हें दुर्ग में ही उतार लिया गया था। इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद सभी को कोविड-19 अस्पताल में भर्ती कराने के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची।

प्रदेश में कोरोना के मरीजों के स्वस्थ होने की दर 12 जून को 37 फीसदी थी। यह चार दिनों बाद बढ़कर 52 फीसदी हो गई है। हालांकि, देश में मरीजों के स्वस्थ होने की दर 52.34% थी, जो कि 10 दिनों में 55.77 प्रतिशत हुई है। ऐसे मेंप्रदेश राष्ट्रीय दर से ज्यादा ही चल रहा है। आने वाले दिनों में प्रदेश के राष्ट्रीय औसत से और आगे जाने की संभावना है। इसका कारण अब 5 से 10 दिनों में ज्यादातर मरीज स्वस्थ हो रहे हैं।

एक जोन में 5 ग्रिड, एक ग्रिड में 500 घर होंगे शामिल
रायपुर में स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम की टीम 2.64 लाख घरों से सैंपल लेगी। इसके लिए 500-500 घरों का एक क्लस्टर बनेगा। हर जोन में 5 ग्रिड होंगे और एक ग्रिड में 500 घरों को शामिल किया जाएगा। शहर के 70 वार्ड में से करीब 40 प्रभावित हैं। महापौर एजाज ढेबर ने कहा कि कोरोना का सेकेंड स्टेज दिखाई दे रहा है। उन्होंने कहा- घर में किसी सदस्य को सर्दी खांसी है, तो उसकी जांच की जाएगी। इसकी शुरुआत 23 जून से की जाएगी।

कोरोना अपडेट्स...
रायपुर : नए शिक्षा सत्र से तीन सरकारी इंग्लिश मीडियम स्कूल शुरू होंगे। यह स्कूल कक्षा पहली से लेकर 12वीं तक संचालित होंगे। इनमें सीबीएसई पैटर्न लागू होगा। अफसरों का कहना है कि 15 जुलाई से नया सत्र की पढ़ाई भी शुरू हो सकती है। इसके अनुसार ही प्रवेश प्रक्रिया जल्द से जल्द शुरू होगी। प्राइवेट स्कूलों की तर्ज पर राज्य में 40 इंग्लिश मीडियम स्कूल शुरू होंगे। यह स्कूल सरकारी हैं, लेकिन इनका संचालन सोसाइटी के माध्यम होगा।

ये तस्वीर बिलासपुर रेलवे स्टेशन की है। लॉकडाउन में अन्य राज्यों में फंसे श्रमिकों को वापस छत्तीसगढ़ लाने के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन का परिचालन किया जा रहा है। रविवार दोपहर में अमृतसर से 1883 श्रमिक यात्री स्पेशल ट्रेन से पहुंचे। इनमें से जांजगीर-चांपा जिले के 1818, रायगढ़ जिले के 63 और कोरबा के 2 श्रमिक यात्री शामिल हैं।

बिलासपुर : सीपत के हाईस्कूल क्वारैंटाइन सेंटर में शनिवार रात इलाहाबाद से लौटे विजय यादव को चक्कर आया। इस पर विजय के साथ उनकी पत्नी ऊषा बाई को जांच कराने के लिए रात 10.35 बजे सिम्स भेज दिया। रात में जांच के बाद उसे लौट जाने के लिए कह दिया गया। वापस सेंटर जाने के लिए कोई साधन नहीं मिला तो वाहन पार्किंग शेड के नीचे रात गुजारी। दूसरे दिन रविवार को भी गाड़ी नहीं मिली।

दुर्ग : संभाग में हर दिन मिल रहे कोरोना पॉजिटिव मरीज को देखते हुए संयुक्त संचालक स्कूल शिक्षा ने बेमेतरा जिला शिक्षा अधिकारी के उस आदेश को निरस्त कर दिया है, जिसमें उन्होंने शिक्षकों को स्कूल आने का आदेश दिया था। संयुक्त संचालक ने स्पष्ट शब्दों में कहा है कि अभी संभाग में संचालित अधिकांश स्कूलों को क्वारैंटाइन सेंटर बनाया गया है। मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। राज्य सरकार ने भी कोई आदेश नहीं दिया है।

यह तस्वीर बिलासपुर सिम्स की है। रविवार को जांजगीर निवासी युवक अपने बीमार साथी को लेकर कैजुअल्टी लेकर गया। उसे जांच के लिए कोरोना ओपीडी भेजा। युवक को स्ट्रेचर थमा दिया, मदद करने कोई नहीं आया। इस संबंध में सिम्स की पीआरओ ने कहा कि हमारे यहां स्ट्रेचर बियरर का पद है। वे मरीजों को स्ट्रेचर पर लेटाकर जहां जाना है वहां तक पहुंचाते हैं। उस समय वह किसी दूसरे मरीज को छोड़ने चला गया हो।

जांजगीर : अगर विवाहित जोड़ा शादी के बाद पंजीयन कराए तो रिकॉर्ड मिलता है, नहीं पता ही नहीं चल पाता। लेकिन इस वर्ष लॉकडाउन के कारण सरकार ने विवाह के लिए भी अनुमति लेना अनिवार्य किया तो अब यह रिकाॅर्ड तहसील कार्यालयों से लेकर कलेक्टरेट तक रखा जाने लगा है। इस साल मार्च से लेकर 18 जून तक 915 लोगों ने शादी करने के लिए ऑनलाइन अनुमति मांगी। जिसमें 617 लोगों को विवाह के लिए अनुमति भी दी गई।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
लखनऊ से रायपुर जाने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेन बिलासपुर पहुंची। यहां श्रमिकाें की थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही थी। इस बीच, लखनऊ से आया 14 साल का रोहित पटेल मिला। उसे वापस लौटना भी है। बच्चे ने एसडीएम को बताया कि ट्रेन जब लखनऊ से छूट रही थी तो वह साफ-सफाई के लिए चढ़ा था। उसे अब आश्रम गृह में रखा जाएगा।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3dhD352

0 komentar