रैंकिंग में सुधार फिर भी रविशंकर यूनिवर्सिटी देश के टॉप-100 संस्थानों में इस बार भी नहीं , June 12, 2020 at 06:15AM

प्रदेश के प्रतिष्ठित संस्थानों में से एक पं.रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय इस बार भी देश के टॉप-100 शिक्षण संस्थानों में जगह नहीं बना पाया है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से जारी नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ) की लिस्ट में विश्वविद्यालय को इस बार रैंक-बैंड 101-150 में रखा गया है। हालांकि, पिछली बार की तुलना में इस बार थोड़ा सुधार हुआ है, लेकिन रविवि इस बार भी देश के कई शिक्षण संस्थानों से पीछे हैं। वहीं आईआईएम को 19वीं और एनआईटी को 67वीं रैंक मिली है।
परीक्षा, रिजल्ट, रिसर्च, इंफ्रास्ट्रक्चर समेत कई अन्य मामलों में रविवि हमेशा बढ़त की बाते करता रहा है। लेकिन गुरुवार को एनआईआरएफ की नई रैंकिंग ने बढ़त के दावे को सिरे से नकार दिया है। देश के शिक्षण संस्थानों के आगे रविवि कई मामलों पिछड़ा। इसलिए विश्वविद्यालय टॉप-100 संस्थानों में इस बार भी जगह नहीं बना पाया। पिछली बार नेशनल रैंकिंग में रविवि को रैंक-बैंड 151-200 में जगह दी गई थी। भास्कर की पड़ताल में यह बात सामने आयी कि पिछले कई बरसों से रिसर्च के मामले में रविवि पिछड़ रहा है।

पहली लिस्ट में रविवि था बेहतर, फिर गिरावट
देश के शिक्षण संस्थान किस स्थान पर हैं। इसे जानने के लिए नेशनल रैंकिंग की शुरुआत कुछ साल पहले हुई। एमएचआरडी की ओर से इसके लिए विश्वविद्यालयों से विभिन्न तरह की जानकारी मंगायी जाती है, उसके अनुसार फिर रैंक जारी होता है। कुछ साल पहले इस रैंकिंग की शुरुआत हुई। तब रविवि का प्रदर्शन अच्छा रहा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Ravishankar University is not even among the top-100 institutes of the country this time.


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3dV8nrf

0 komentar