घरों में अस्पताल बनाने की दिल्ली जैसी स्थिति प्रदेश में नहीं, अब 16 सेंटरों में इलाज, एक साथ ढाई हजार मरीज भर्ती करने की क्षमता , June 23, 2020 at 05:50AM

प्रदेश में दिल्ली जैसे घर में अस्पताल बनाने की नौबत नहीं आएगी, छत्तीसगढ़ में हल्के लक्षण वाले मरीजों के लिए अब तक 16 कोविड केयर बनकर तैयार हो गए हैं। इनमें जरूरत पड़ने पर करीब ढाई हजार मरीजों को भर्ती किया जा सकता है। मरीजों की बढ़ती तादाद के मद्देनजर दो हफ्ते पहले कोविड केयर सेंटर बनाने के लिए जिलों को टारगेट दिया गया था। इनमें भी रायपुर समेत ऐसे जिलों को फोकस किया गया है जहां अधिक संख्या में पॉजिटिव केस आ रहे हैं। हालांकि प्रदेश में मरीजों को भर्ती करने की सबसे ज्यादा क्षमता भी रायपुर के अस्पतालों में हैं। यहां एक समय में 1330 मरीजों को अभी भर्ती किया जा सकता है और यह क्षमता लगातार बढ़ाई जा रही है।
अनुपातिक तौर पर प्रदेश में अब मरीजों की ठीक होने की दर में काफी कुछ सुधार हुआ है। औसतन रोजाना पचास से अधिक मरीज डिस्चार्ज हो रहे हैं। राज्य में प्रति दस लाख लोगों में 75 लोग संक्रमण की जद में आ रहे हैं, जबकि मरीजों के सुधरने की रफ्तार अब 64 फीसदी हो गई है। रायपुर में इनडोर स्टेडियम में बनाया कोविड केयर सेंटर बनकर तैयार हो गया है। इसमें मरीजों को भर्ती से पहले सेनिटाइज किया जाएगा, वहीं मेडिकल स्टॉफ और मरीजों के लिए अलग-अलग एंट्री एक्जिट प्वाइंट बनाए गए हैं। कोविड केयर सेंटर में डॉक्टर स्क्रीन विंडो के जरिए भी कंसलटेंसी दे सकेंगे।

केस बढ़े तो इनडोर स्टेडियम में शिफ्ट होंगे कोरोना मरीज
रायपुर जिले में मरीजों की संख्या बढ़ने पर बूढ़ातालाब इनडोर स्टेडियम में बनाए कोविड सेंटर में उन्हें शिफ्ट करने के लिए अब पूरी तैयारियां कर ली गई है। अधिकारियों के मुताबिक हल्के या बिना लक्षण वाले मरीजों के आने का सिलसिला यहां कभी भी शुरु हो सकता है। पूरे परिसर की घेराबंदी कर दी गई है। कोविड केयर सेंटर के बगल में ही स्मार्ट सिटी का दफ्तर भी है। इस ओर से आने जाने के रास्ते को बंद कर दिया गया है। मरीज जब कोविड केयर सेंटर से स्वस्थ्य होकर निकलेंगे उस पूरे रास्ते में मरीजों की हिदायत के लिए फ्लेक्स पर संदेश भी लिखे गए हैं। इनमें लिखा गया है कि कि वो नियमित रूप से काढ़ा पिएं, किसी से हाथ न मिलाएं। इनडोर स्टेडियम में बनाए कोविड केयर सेंटर की क्षमता 200 है।

राजधानी में 56 हजार से ज्यादा घरों में हुआसर्वे
रायपुर में 18 मार्च को समता कॉलोनी में पहला मरीज मिलने के बाद से अब तक सैकड़े से भी ज्यादा जगहों पर कंटेनमेंट जोन बनाए जा चुके हैं। पॉजिटिव केस मिलने के बाद से शहर के बहुत से इलाके कंटेनमेंट जोन के दायरे में आ रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीमें अब तक 56 हजार से ज्यादा घरों में सर्वे कर चुकी है। साठ साल से अधिक उम्र के लोगों के साथ गर्भवती और बच्चों पर भी सर्वे में खास फोकस किया जा रहा है। फिलहाल ऐसे लोग जिनमें सर्दी खांसी बुखार जैसे लक्षण नजर आ रहे हैं, उनका एहितियातन कोरोना टेस्ट भी हो रहा है।
"शासन के निर्देशों के अनुसार शहर में ऐसी जगहें चिन्हित की जा चुकी है, जहां कोविड केयर सेंटर बनाए जा सकते हैं। मरीजों की बढ़ती तादाद को देखते हुए नए सेंटर तैयार किए जाएंगे। इनडोर स्टेडियम का सेंटर पूरी तरह तैयार है।"
-सौरभ कुमार, कमिश्नर, नगर निगम रायपुर



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
केस बढ़ने पर रायपुर स्थित इनडोर स्टेडियम में मरीजों को शिफ्ट किया जाएगा। यहां 200 बेड तैयार है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/31jadiz

0 komentar