2 डॉक्टर, 3 पुलिस कांस्टेबल सहित प्रदेश में 82 नए केस; कोरोना संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर बढ़ी, बिना लक्षण वाले मरीज ज्यादा , June 19, 2020 at 07:53AM

छत्तीसगढ़ में गुरुवार रात तक कोराेना संक्रमण के 82 नए केस सामने आए हैं। रायपुर में फिर 11 केस मिले हैं। इसके अतिरिक्तबलरामपुर से 22, बलौदाबाजार से 12, जांजगी-चांपा से 11, दुर्ग से 9, राजनांदगांव से 8, बिलासपुर से 4, कोरिया से 3 और कोरबा से 2 मरीज मिले हैं। वहींमरीजों को स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से छुट्‌टी दे दी गई है।

इसके बाद प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या 735 हो गई है। प्रदेश मेंअब तक कोरोना संक्रमण के1946 मामले सामने आ चुके हैं। अच्छी बात यह है कि इनमें से1202 मरीजों के स्वस्थ होने पर उन्हें अस्पताल सेडिस्चार्ज किया जा चुका है।जबकि 9 लोगों की मौत हो चुकी है। प्रदेश में मरीजों के रिकवर होने का आंकड़ा 50 फीसदी से ज्यादा हो गया है।

नेवई थाने के 3 पुलिस जवान पॉजिटिव, थाने को किया सील
भिलाईमें कोरोना के 9 कोरोना पॉजिटिव मिले। इनमें 3 नेवई थाने में पदस्थ पुलिस जवान है। उसके बाद पूरा थाना सील करना पड़ा है। शुक्रवार से सामने मैदान में टेंट में थाना लगेगा। श्रीशंकराचार्य मेडिकल कालेज की दाे महिला डॉक्टर पॉजिटिव मरीज का इलाज की वजह से संक्रमण में आ गई। सेक्टर-1 निवासी पिता अपनी बेटी से मिलने के बाद अमेरिका से लौटा है। जबकि तीन अन्य पॉजिटिव में एक हाउसिंग बोर्ड काॅलोनी और दो ग्रामीण क्षेत्र के हैं।

लक्षण नहीं, इसलिए जल्दी हो रहे ठीक

कोरोना संक्रमिताें की बढ़ती संख्या से जूझ रहे छत्तीसगढ़ के लिए यह राहत देने वाली खबर है। प्रदेश में जितनी संख्या में संक्रमित मिल रहे हैं, उससे ज्यादा उनकी रिकवरी दर है। अगर पिछले 48 घंटों की बात करें तो 140 नए संक्रमित सामने आए हैं, जबकि 250 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से छुट्‌टी दे दी गई है। खास बात यह है कि नए मरीजों में ज्यादातर बिना लक्षण वाले हैं। डॉक्टरों का कहना है कि ऐसे में वे जल्दी ठीक भी हो रहे हैं।

जगदलपुर में जगन्नाथ महाप्रभु की रथ यात्रा निकालने की परंपरा नहीं टूटेगी। जिला प्रशासन ने बुधवार को बस्तर गोंचा के तहत रथ यात्रा निकालने की अनुमति 360 घर आरण्यक ब्राह्मण समाज को दी। पर्व के दौरान 10 साल से कम और 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को मंदिर में प्रवेश करने पर रोक रहेगी। ग्रामीणों ने रथ बनाने का काम शुरू कर दिया है।

बिना लक्षण वाले मरीज 4 से 5 दिन में स्वस्थ

  • डॉक्टरों का कहना है कि बिना लक्षण वाले मरीज ज्यादा आ रहे हैं इसलिए वे 4 से 5 दिनों में ठीक हो रहे हैं।
  • गंभीर मरीजों की संख्या महज 5 प्रतिशत के आसपास है। इन्हें वेंटीलेटर की जरूरत पड़ती है। ऐसे मरीजों को एम्स रिफर किया जा रहा है।
  • प्रदेश के 26 जिलों में कोरोना के मरीज मिल चुके हैं। केवल बीजापुर व सुकमा जिले में संक्रमण नहीं हुआ है।
  • रायपुर जिले में 1 जून से अभी तक 144 मरीज मिल चुके हैं। इनमें ऐसे ज्यादा हैं, जो पहले संक्रमितों के संपर्क में आए हैं।

संदिग्ध नहीं होने के बाद भी सैंपललिए जा रहे
एक निजी लैब के स्वाब सैंपल लेने की शिकायतें मिलने के बाद सीएमएचओ कार्यालय ने नोटिस जारी कर लैब से पूछा है कि किस प्रोटोकाॅल के तहत ये कर रहे हैं? आईसीएमआर की गाइडलाइन के अनुसार सर्दी, खांसी, बुखार औरसांस लेने में परेशानी वाले मरीजों का सैंपल लेकर जांच के लिए भेजना है। दरअसल, प्रदेश में केवल एक निजी लैब कोरोना जांच के लिए अधिकृत है। इसका शुल्क 4500 रुपए है, जिसे मरीज को देना है।

कोराेना अपडेट्स...
रायपुर :
राजधानी समेत अन्य पैसेंजर ट्रेनों में अब वेटिंग कम हो गई है। शुरूआती हफ्तों में मुंबई-हावड़ा व हावड़ा-अहमदाबाद एक्सप्रेस में रिग्रेट की स्थिति रही। रायपुर से हावड़ा और अहमदाबाद जाने वाली ट्रेनों के स्लीपर क्लास में वेटिंग 10 से 15 के बीच है। इसी तरह नई दिल्ली जाने और आने वाली राजधानी एक्सप्रेस में भी बर्थ खाली है। रेलवे अफसरों से मिली जानकारी के मुताबिक राजधानी एक्सप्रेस में इन दिनों वेटिंग के हालात नहीं हैं।

बिलासपुर रेलवे स्टेशन में बुधवार को गोरखपुर (यूपी) से सैकड़ों की संख्या में मजदूर पहुंचे। बसों की संख्या कम थी, मॉनिटरिंग भी नहीं थी। इसके चलते मजदूर धूप में कई घंटे इंतजार करते रहे। अब आने वाले मजदूरों की न जांच की जा रही है, न सोशल डिस्टेंसिंग और न ही उन्हें गाइड किया जा रहा है।

बिलासपुर : कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। ऐसे में ट्रेनों को चलाने की बड़ी भूमिका राज्य सरकार ही निभाएगी। रेलवे बोर्ड ने स्पष्ट कर दिया है कि जिन-जिन राज्यों की सरकारें चाहेंगी, उनके यहां ही ट्रेनों की शुरुआत की जाएगी। मुंबई-हावड़ा-मुंबई, हावड़ा-अहमदाबाद-हावड़ा व नई दिल्ली- बिलासपुर-नई दिल्ली ट्रेन की शुरुआत तो रेलवे प्रशासन ने कर दी है। इन ट्रेनों के स्टॉपेज पर राज्य सरकारों की भूमिका महत्वपूर्ण है।

भिलाई : कोरोना के नए पॉजिटिव केस पाए जाने के कारण रिसाली(इस्पात नगर) शारदा स्कूल के पास, वार्ड 59 रिसाली सेक्टर दक्षिण, सेक्टर-6 (एवेन्यू डी), जुनवानी(माॅडल टाउन) वार्ड 2 को कन्टेनमेंट जोन घोषित किया है। इस क्षेत्र में सभी प्रकार के दुकानें औरवाणिज्यिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। सभी वाहनों के आवागमन पर प्रतिबंध रहेगा। रिसाली निगम क्षेत्र में नेवई बस्ती तिरंगा चौक औरजलाराम चौक, टंकी मरोदा, स्टेशन मरोदा औररिसाली प्रगतिनगर क्षेत्र है।

तस्वीर भिलाई के रिसाली निगम क्षेत्र की है। यहां सबसे ज्यादा 6 मरीज मिल चुके हैं। अकेले नेवई इलाके से ही 3 मरीज मिले। अधिकांश वार्डों में टैंकर से पानी सप्लाई हो रही है। कंटेनमेंट जोन में लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए पानी भर रहे।

रायगढ़ : केलो बिहार काॅलोनी में रहने एक परिवार मध्यप्रदेश से लौटा था। स्वास्थ्य विभाग ने उसे होम आइसोलेशन में रहने के लिए कहा था। इसके बावजूद ये लोग घर के बाहर घूम रहे थे। पड़ोसी ने इसका वीडियो बनाकर विरोध किया तो उनसे मारपीट कर दी। शिकायत पर चक्रधर थाना पुलिस ने संदीप नामदेव, उसकी मां औरएक पड़ोसी के खिलाफ केस दर्ज किया है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
ये तस्वीर रायपुर के टाटीबंध की है। इसे कंंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है। सैनिटाइजेशन का काम चल रहा है। रायपुर में 24 घंटे में 25 नए केस आए।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3fyadio

0 komentar