मुख्यमंत्री आवास का सिक्योरिटी गार्ड, मेकाहारा के 2 डॉक्टर सहित 70 नए केस; रायपुर के माना स्थित कोविड-19 अस्पताल बंद , June 20, 2020 at 07:50AM

छत्तीसगढ़ में कोरोनावायरस ने अब मुख्यमंत्री निवास में दस्तक दे दी है। सीएम हाऊस का सुरक्षाकर्मी प्लाटून कमांडर रामलाल सोनी पॉजिटिव मिला है। उसकी ड्यूटी पश्चिमी द्वार पर थी। वहीं मुख्यमंत्री निवास को सैनिटाइज किया गया है। इसके साथ ही शुक्रवार रात तक प्रदेश में70 नए संक्रमित मिले हैं। इसमें रायपुर के मेकाहारा कोविड-19 अस्पताल में ड्यूटी कर रहे दो डॉक्टर औरजिला चिकित्सा कार्यालय (सीएमएचओ) के डॉटा एंट्री ऑपरेटर भी शामिल है।

इसके अतिरिक्तजांजगीर-चांपा से 18, सरगुजा से 17, रायपुर से 9, बलौदाबाजार से 8, जशपुर से 6, मुंगेली से 4, राजनांदगांव से 3, बिलासपुर से 2, दुर्ग, कोरिया व बलरामपुर से 1-1 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। वहीं130 मरीजों केस्वस्थ होने के बाद उन्हें डिस्चार्ज किया गया है।अब कुल मरीजों की संख्या 2018 हो गई है।वहीं एक्टिव मरीजों की संख्या 703 है।जबकि 11 लोगों की मौत हो चुकी है।

माना के कोविड-19 अस्पताल से बुलाया जाएगा स्टाफ

कोरोना संकट के बीच स्वास्थ्य विभाग ने बड़ा फैसला लिया है। रायपुर के माना स्थितकोविड-19 अस्पताल में अब मरीजों को भर्तीनहीं करने का फैसला लिया गया है। वहां तैनात डॉक्टरों सहित स्वास्थ्यकर्मियों को वापसमेकाहारा बुलाया जाएगा। कोरोना संकट को देखते हुए राज्य सरकार ने माना में 100 बिस्तरों का कोविड-19 अस्पताल बनवाया था।फिलहाल वहां 30 मरीजों का उपचार जारी है।

वार्ड ब्वॉय को भेजने वालोडॉक्टरों को थमाया गया नोटिस

छत्तीसगढ़ में डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ में कोराेना संक्रमण के डर और लापरवाही के मामले सामने आने लगे हैं। बिलासपुर में रतनपुर के क्वारैंटाइन सेंटर में बुधवार को श्रमिक की मौत हो गई थी। उस दिन प्रभारी डॉ. अनिल श्रीवास्तव मौके पर पंहुचे थे, लेकिन संक्रमण के डर से उन्होंने मरीज को छुआ तक नहीं, बल्कि वार्ड ब्वॉय दीपेश साहू को पीपीई किट पहनाकर जांच करवाई। अब इस मामले में सीएमएचओ डॉ. प्रमोद महाजन ने डॉ. अनिल श्रीवास्तव को नोटिस जारी कर तीन दिन में जवाब मांगा है।

कोविड वार्ड में बिना पीपीई किट के घुसे नर्स व वार्ड ब्वॉय

वहीं दूसरी ओर जगदलपुर मेडिकल कॉलेज में कोविड-19 अस्पताल के संदिग्ध रोगियों के वार्ड में तीन स्टाफ बिना पीपीई किट और एसओपी के अंदर घुस गए। इसके बाद दोनों नर्स और वार्ड ब्वाॅय इसी बिल्डिंग में कई स्थानों पर घूमे भी। तीनों को कारण बताओ नोटिस जारी कर ऐसी हरकत के लिए दो दिनों में जवाब तलब किया गया है। मेकॉज के अफसरों के अनुसार कोविड हॉस्पिटल में पहले की कुछ दवाएं बची हुई थीं वो एक्सपायरी हो रही थीं। ऐसे में कुछ स्टाफ उन दवाओं को लेने के लिए यहां आ गए थे।

बिलासपुर में तैयार किए जा रहे तीन नए अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में प्रवेश के लिए 20 जून से आवेदन लिए जाएंगे। स्कूल में प्रवेश के लिए बच्चों के अभिभावकों को जन्म प्रमाण-पत्र, निवास प्रमाण पत्र, आधार कार्ड, पूर्व क्लास में पढ़ रहे अध्ययन की जानकारी का प्रमाण-पत्र तथा फोटो देना होगा। यह निर्णय जिला शिक्षाधिकारी व शिक्षकों की हुई बैठक में लिया गया।

सेंट्रल स्कूल में अभी नहीं होंगे एडमिशन

केंद्रीय विद्यालय शनिवार से खुल जाएंगे, लेकिन अभी कक्षाएं नहीं लगेंगी, पढ़ाई नहीं होगी। अफसरों ने बताया कि शिक्षक व अन्य स्टॉफ की उपस्थिति रहेगी। छात्रों के लिए अभी स्कूल नहीं खुलेगा। इसी तरह एडमिशन भी फिलहाल नहीं होगा। इससे पहले, कोरोना वायरस की वजह से इस साल केंद्रीय विद्यालयों में अब तक प्रवेश नहीं हुई। पहले के बरसों में मार्च-अप्रैल में प्रक्रिया शुरू हो जाती थी लेकिन इस बार जून में भी प्रवेश को लेकर कोई सूचना जारी नहीं हुई है।

प्राइवेट स्कूल बोले- पैरेंट्स 30 जून तक फीस जमा करें, नहीं तो बच्चों के नाम काट देंगे
जगदलपुर में प्राइवेट स्कूलाें ने अब नया फरमान जारी कर दिया है। इसमें साफ तौर पर कहा गया है कि महीने के आखिर तक जून की फीस जमा करवा दीजिए। अगर फीस जमा नहीं कराई तो बच्चे का नाम स्कूल से काट दिया जाएगा। कुछ पैरेंट्स ने बताया स्कूलों से उन्हें फोन कर 30 जून तक फीस जमा करने काे कहा है। उन्हें लिखित, मैसेज या नोटिफिकेशन के जरिए सूचना नहीं दी गई, बल्कि स्कूलों से फोन आ रहे हैं। इसमें फीस बकाया होने की जानकारी देने के साथ ही इस महीने के आखिर तक इसे जमा करने कहा जा रहा है।

छत्तीसगढ़ में कोरोना अपडेट

भिलाई : रिसाली में वार्ड 61 प्रगति नगर सड़क-2 निवासी इंटीरियर डिजाइनर युवती की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। वह पुणे से लौटी थी। स्वास्थ्य विभाग जब ट्रेस करने घर पहुंची तो पता चला कि वह इलाके में तीन दिनों तक घूमती रही। एडीएम व रिसाली निगम आयुक्त प्रकाश सर्वे को मौके पर गए। निगम के अधिकारी रमाकांत साहू को नेवई थाने में युवती के खिलाफ केस दर्ज कराने निर्देश दिए हैं। युवती ने पुणे से फ्लाइट में एयरपोर्ट उतरने के बाद एम्स में अपने सैंपल दिए थे। उसे होम क्वारैंटाइन रहने के लिए कहा गया था।

भिलाई के नेवई थाने के 3 पुलिसकर्मी पॉजिटिव निकले। एक मुंशी है, दूसरा प्रधान आरक्षक और तीसरा आरक्षक दुर्ग पुलिस लाइन के क्वार्टर में रहता है। वह आमद देने थाने आता था। इसके बाद थाने काे सील कर दिया गया है। अस्थाई रूप से अब उसके सामने टेंट लगाकर थाना चलाया जाएगा।

बिलासपुर : मस्तूरी की ग्राम पंचायत पंधी में बने क्वारैंटाइन सेंटर में दो दिनों से बीमार एक माह के प्रिंस केंवट ने सिम्स में दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि लक्ष्मण केंवट अपने परिवार के साथ 11 जून को यूपी से अाया था। मंगलवार को प्रिंस की तबीयत बिगड़ गई। इसकी सूचना सरपंच व सचिव को दी गई, लेकिन वे नहीं आए। लक्ष्मण केंवट ने आरोप लगाया है कि प्राइवेट हॉस्पिटल में इलाज कराने की अनुमति मांगी, लेेकिन सिर्फ सरकारी में जाने की बात कहकर मना कर दिया। इसके करीब 18 घंटे बाद एम्बुलेंस की व्यवस्था की गई।

रायगढ़ : गुरुग्राम हरियाणा से आए श्रीकांत जांगड़े को संदिग्ध मानते हुए स्थानीय प्रशासन ने सारंगढ़ के सुवाताल क्वारैंटाइन सेंटर में 14 दिन के लिए रखा था। दूसरे दिन ही उसने फोन कर गांव से दोस्तों को बुला लिया और भाग निकला। रात में क्वारैंटाइन में रह रहे लोगों का मिलान कराया गया तो पता चला। पुलिस ने उसकी तलाश की तो वह बाइक पर युवकों के साथ घूमता मिला। इसके बाद पुलिस ने साथ ले जाने वाले युवकों सहित तीन लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। अब सभी को क्वारैंटाइन में रहना होगा।

जशपुर में अब तक 98 कोरोना संक्रमितों की पुष्टि हो चुकी है। गुरुवार को तीन नए पॉजिटिव मरीज मिले हैं। दुलदुला ब्लॉक के क्वारैंटाइन सेंटर में एक गर्भवती महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उसे इलाज के लिए रायपुर मेकाहारा भेजा गया है। इसके बाद अन्य लोगों का भी सैंपल लिया जा रहा है। वहीं दो नए पॉजिटिव मरीज फरसाबहार विकासखंड से सामने आए हैं। जिनमें बीमारी के कोई लक्षण नहीं है।


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
भिलाई स्टील प्लांट में ठेकेदारों के निरंकुश रवैए से नाराज मजदूरों ने धारा-144 और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए आईआर विभाग के सामने करीब 6 घंटे तक नारेबाजी करते हुए धरना दिया। नाराजगी समय पर वेतन भुगतान नहीं करने व काम से हटाए जाने को लेकर थी। जिला प्रशासन के आश्वासन बाद धरना समाप्त किया गया।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2YfJv8A

0 komentar