स्कूल, अस्पताल, राशन दुकानें, सरकारी कार्यालय जुड़ेंगे सड़क मार्ग से, 200 करोड़ की लागत से होंगे 1116 कार्य; दिल्ली में बनेगा नवा छत्तीसगढ़ सदन , June 19, 2020 at 03:56PM

छत्तीसगढ़ के सभी सार्वजनिक स्थान अब पक्के सड़क मार्ग से जुड़ेंगे। इसके तहत स्कूल-कॉलेज, अस्पताल, राशन दुकानें और सरकारी कार्यालय को पक्के सड़क मार्ग से जोड़ा जाएगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को अपने निवास कार्यालय में मुख्यमंत्री सुगम सड़क योजना का शुभारंभ किया। योजना में 200 करोड़ की लागत से 1116 कार्य कराए जाएंगे। योजना के पूरा होने के बाद प्रदेश के सभी शासकीय भवन और सार्वजनिक स्थलों तक पहुंचना आसान हो जाएगा।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने योजना का शुभारंभ करते हुए कहा, आज का दिन महत्वपूर्ण है। हमारे राष्ट्रीय नेता राहुल गांधी का जन्मदिन है, लेकिन भारत-चीन की सीमा पर लद्दाख में शहीद हुए जवानों की याद में आज सेवा का कार्य करना है। उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत सार्वजनिक स्थल जैसे हाट बाजार, मेला स्थल, धान संग्रहण केंद्र, श्मशान घाट जैसे अनेक महत्वपूर्ण सार्वजनिक उपयोग के केंद्र, जहां आने-जाने में असुविधा होती है। ऐसे सभी सार्वजनिक स्थलों को बारहमासी पहुंच मार्ग का निर्माण कर जोड़ा जाएगा।

छत्तीसगढ़ सदन का ऑनलाइन शिलान्यास

नवा छत्तीसगढ़ सदन का निर्माण नई दिल्ली के सेक्टर-13 में 60.42 करोड़ रुपए की लागत से कराया जाएगा।सदन में 10 सुईटरूम, 67 कमरे, डायनिंग हॉल एंड वेटिंग सहित मीटिंग हॉल और कर्मचारियों के लिए आवासीय टावर का निर्माण किया जाएगा।

वहीं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नई दिल्ली स्थित द्वारका में बनने वाले नवा छत्तीसगढ़ सदन का ऑनलाइन शिलान्यास भी किया।नवा छत्तीसगढ़ सदन का निर्माण नई दिल्ली के सेक्टर-13 में 60.42 करोड़ रुपए की लागत से कराया जाएगा। इस सदन के निर्माण के लिए 43803 वर्गफीट भूमि 22.50 करोड़ रुपए में क्रय की गई है। नवा छत्तीसगढ़ सदन में 10 सुईटरूम, 67 कमरे, डायनिंग हॉल एंड वेटिंग सहित मीटिंग हॉल और कर्मचारियों के लिए आवासीय टावर का निर्माण किया जाएगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
छत्तीसगढ़ के सभी सार्वजनिक स्थान अब पक्के सड़क मार्ग से जुड़ेंगे। वहीं नई दिल्ली में नवा छत्तीसगढ़ भवन बनेगा। दोनों योजनाओं को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ऑनलाइन शुभारंभ किया।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2CqEphj

0 komentar