कुएं में बेहोश खेत मालिक को बचाने के लिए उतरे 3 लोग भी फंसे, दो भाइयों सहित सभी की मौत , June 11, 2020 at 08:21AM

छत्तीसगढ़ के जांजगीर में बुुधवार सुबह कुएं में फंसने से चार लोगों की मौत हो गई।बताया जा रहा है कि खेत का मालिक नए बनाए गए कुएंको देखने के लिए नीचे उतरा था और फंस गया। उसे बचाने के लिए उतरे तीन अन्य लोग कुएं में गैस और पानी होने के चलते बेहोश हो गए थे। इन सबकी उपचार के दौरान मौत हो गई। घटना हसौद थाना क्षेत्र के धमनी गांव की है।

कुएं से चारों को निकाल कर अस्पताल भेजा गया। कुआं नया था और बंद होने से उसमें मीथेन गैस बन गई। अंदर से पानी रिसने के कारण वह भी थोड़ा भरा हुआ था। ऐसे में सभी बेहोश हो गए।

जानकारी के मुताबिक, हसौद क्षेत्र के धमनी गांव निवासी हेमंत रात्रे (37) पुत्र खोलनहरा रात्रे ने नरियर खार स्थित अपने खेत में नया कुआं बनवाया था। इसका मंगलवार को प्लास्टर किया गया। बारिश से प्लास्टर को बचाने के लिए मजदूरों ने ऊपर से कुएं को प्लास्टिक लगाकर बंद कर दिया था। बताया जा रहा है कि बुधवार सुबह करीब 9.30 बजे हेमंत कुएं को देखने के लिए सीढ़ी से नीचे उतर गया और अंदर बेहोश हो गया।

एक-एक कर सब कुएं में फंसते चले गए
यह देखकर हेमंत की पत्नी मोबरा बाई ने शाेर मचाया। उसकी आवाज सुनकर गांव का नागेंद्र मधुकर (34) पुत्र राम जोहाटी अपने छोटे भाई महेंद्र (31) के साथ पहुंचा। नागेंद्र उसे बचाने के लिए कुएं में उतर गया, पर मौके परबेहोश होकर गिर पड़ा। यह देख उसका छोटा भाई महेंद्र भी कुएं में उतरा, लेकिन वह भी बेहोश हो गया। इस पर चिंतामणि बंजारे (45) पुत्र पीला बाबू रस्सी के सहारे नीचे उतरा और वह भी फंस गया।

मीथेन गैस और पानी के कारण हुए बेहोश
इसके बाद ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। थोड़ी देर में पुलिस के साथ ही पटवारी और अन्य लोग भी मौके पर पहुंच गए और अंदर से चारों को निकाल कर अस्पताल भिजवाया गया। जहां उपचार के दौरान चारों ने दम तोड़ दिया।बताया जा रहा है कि कुआं नया था और बंद होने से उसमें मीथेन गैस बन गई। वहीं अंदर से पानी रिसने के कारण वह भी थोड़ा भरा हुआ था।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
जांजगीर में बुुधवार सुबह नए कुएं को देखने उतरा मालिक अंदर फंस गया। उसे बचाने के लिए गए 3 लोग भी बेहोश हो गए। सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3dOTxTt

0 komentar