दुर्ग के बाल गृह से भागे 5 बच्चे 9 दिन बाद मिले; कहा- अश्लील वीडियो दिखाती हैं मैडम , June 19, 2020 at 05:51AM

छत्तीसगढ़ के दुर्ग स्थित बाल गृह से करीब 9 दिन पहले 5 बच्चे भाग निकले। मंगलवार को इन बच्चों को चाइल्ड लाइन की टीम ने रायपुर नाका और रेलवे स्टेशन के पास से रेस्क्यू कराया। बच्चों से बात की गई तो उन्होंने कहा- मैडम, गंदे-गंदे वीडियो दिखाती हैं। कपड़ों के अंदर हाथ डालकर इधर-उधरहाथ लगाती हैं। खास बात यह है कि बच्चों ने जिस मैडम पर आरोप लगाए हैं, वो बाल गृह में ही बाल कल्याण अधिकारी हैं।

बच्चे बोले- हम होम में रहना चाहते हैं
इन बच्चों को अलग-अलग जगहों से बाल गृह लाया गया था। इनमें से एक बच्चे को गोद दे दिया गया। हालांकि वह भी इन बच्चों के साथ भाग निकला। उसका आरोप है, जिन्होंने गोद लिया था, वह उससे मारपीट करते थे। ऐसे में वह भी वहां से भाग निकला। सभी बच्चों को रेस्क्यू कराने के बाद चाइल्ड वेलफेयर कमेटी (सीडब्ल्यूसी) के सामने पेश किया गया। जहां पर इनके बयान दर्ज किए गए हैं।

मेरे को अलग रखती, पिटाई भी करती
एक बच्चे ने आरोप लगाया कि मैडम मेरे को हमेशा दूर रखती थीं। सब बच्चों से अलग रहने के लिए कहतीं। बच्चों के साथ रहता या उनके पास जाता तो मारपीट कर भगा देतीं। बाद में यह भी सामने आया है कि आरोप लगाने वाला बच्चा एचआईवी पॉजिटिव है। संभवत: इसीलिए उसके साथ मैडम का ऐसा व्यवहार होता होगा। इन सब मामलों को लेकरसहायक आयुक्त केनेतृत्व में तीन सदस्यीय एक जांच टीम का गठन किया गया है।

दो महिला अधिकारियों के झगड़े में फंसे बच्चे
चर्चा इस बात की भी है कि बाल गृह में बच्चे दो महिला अधिकारियों के झगड़े में फंसे हुए हैं। बच्चों को अपनी ओर करने और मजबूत पकड़ बनाने के लिए दोनों महिला अधिकारी बच्चों काे अलग-अलग तरह से प्रलोभन देती हैं। कुछ दिन पहले दूसरी महिला अधिकारी ने बच्चों को अपनी स्कूटी चलाने के लिए दे दी थी। एक्सीडेंट होने पर उनको चाेट भी आई थी। इस पर पुलिस तक भी मामला पहुंचा था और बच्चों का अस्पताल में उपचार कराना पड़ा।

सप्ताह में दूसरी बार शिकायत और फिर जांच
महिला अधिकारी के खिलाफ एक सप्ताह में यह दूसरी बार शिकायत का मामला सामने आया है। इससे पहले सचिव आर प्रसन्ना तक मामला पहुंचा था और जांच की गई थी। बताया जा रहा है कि आरोपी मैडम धमतरी में सीडब्ल्यूसी की चेयरमैन रह चुकी है। वहां भी विवादों के चलते इन्हें हटाया गया था। फिलहाल एसडीएम के नेतृत्व में टीम महिला और बाल विकास विभाग में जांच कर रही है। तब तक आरोपी मैडम को छुट्‌टी पर भेज दिया गया है।

पहले भी विवादों में रहा है ये बालगृह
ये बाल गृह पहले भी विवादों में रह चुका है। मई 2019 में बच्चे का एक वीडियो सामने आया, जिसमें वह कह रहा है कि मैडम ये बोलती है किसी को मत बताना, जो पूछेंगे तो बताना सब कुछ मिलता है और बहुत मारती है और बोलती है किसी को चुगली करोगे को तेरे को जेल भेज देंगे और भगा देंगे। पैंट उतार देते हैं और फिर भी मारते हैं। तब एसडीएम की जांच के आधार पर कलेक्टर अंकित आनंद ने अधीक्षिका विमला शर्मा को निलंबित कर दिया था।

महिला अधिकारी के खिलाफ शिकायत मिली है। मामले की जांच हो रही है। इसके बाद ही आगे कुछ कह सकेंगे। फिलहाल महिला अधिकारी को ऑफिस आने से मना कर दिया गया है।
- विपिन जैन, जिला कार्यक्रम अधिकारी, दुर्ग



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
छत्तीसगढ़ के दुर्ग में बच्चों की ओर से शिकायत मिलने के बाद गुरुवार को जांच टीम जिला कार्यक्रम अधिकारी के ऑफिस में पहुंची।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2YKdh48

0 komentar