जिले के तीन बांधों में 85% से ज्यादा पानी, पिछले 14 दिनों में ही 32.6 मिमी बारिश, जो कि बीते 10 साल की औसत वर्षा का 84 फीसदी अधिक , June 15, 2020 at 05:50AM

मानसून की शुरुआत में ही जिले के 5 मध्यम जलाशयों में 30 से 90 फीसदी तक पानी भरा है। मानसून पहुंचने के साथ ही बारिश का दौर शुरु हो गया है। इस साल अच्छी बारिश की उम्मीद लगाई जा रही है। जल संसाधन विभाग की मानें तो 254 मिमी (10 इंच) बारिश होने से छिरपानी, सुतियापाट और सरोदा बांध ओवरफ्लो हो जाएंगे।
मानसून पहुंचने के पहले ही पिछले 14 दिन में जिले में 32.6 मिमी औसत बारिश हो चुकी है। जो कि पिछले 10 साल की औसत वर्षा का 184.8 प्रतिशत है। यानी अब तक 84 फीसदी अधिक बारिश हो चुकी है। बारिश का दौर ऐसे ही चलता रहा तो इस बार अगस्त 2020 तक बांध ओवरफ्लो हो जाएंगे। वर्ष 2019 में सितंबर माह में यह स्थिति देखने को मिली थी। जिले के सभी 5 बांध ओवरफ्लो हो गए थे। इस वर्ष गर्मी कम पड़ी है। समय-समय पर बने सिस्टम के कारण हुई बारिश से बांधों में पानी की आवक अच्छी रही। इसके चलते बांधों का जलस्तर कम नहीं हुआ।

कैचमेंट एरिया में आने वाले खेतों में अभी से भरा पानी

सरोदा बांध में अभी 87.60 प्रतिशत तक पानी उपलब्ध है। पहाड़ों से बरसाती नालों के जरिए बांध में पानी की आवक हो रही है, जिससे कैचमेंट एरिया के खेतों में पानी भर गया है। बरसाती नालों का पानी आने से बांध का पानी मटमैला दिखाई देने लगा है। जल संसाधन विभाग के एसडीओ आरआर नेताम का कहना है कि एक फीट और जलस्तर बढ़ने पर बांध ओवरफ्लो हो जाएगा। उलट से पानी नदी में बहने लगेगी। बांध के ओवरफ्लो होने से केसदा, झंडी, बांधा, मंडलाकोना समेत 10 से अधिक गांवों का संपर्क टूट जाएगा। इसे देखते हुए आपदा प्रबंधन विभाग अलर्ट हो गया है।

जिले के 5 बड़े जलाशयों में जलभराव की स्थिति
जलाशय क्षमता जलभराव जून 2019 जून 2020
छिरपानी बांध 50.25 45.71 12.48% 90.97%
सुतियापाट 35.18 29.99 36.64% 85.25%
सरोदा 30.15 26.41 9.55% 87.60%
कर्रानाला 18.09 9.71 14.15% 53.68%
बहेराखार 13.71 4.21 31.36% 30.71%
(आंकड़ें- क्षमता व जलभराव मिलियन क्यूबिक मीटर में, स्रोत- जल संसाधन विभाग कबीरधाम)

पहाड़ों से बरसाती नालों के जरिए पहुंच रहा पानी

जिले के छिरपानी, सरोदा और सुतियापाट बांध का जलस्तर 85 फीसदी से अधिक है। छिरपानी बांध में 90.97 प्रतिशत, सुतियापाट बांध में 85.25 प्रतिशत और सरोदा बांध में 87.60 प्रतिशत तक पानी भरा हुआ है। बारिश के चलते पहाड़ों से बरसाती नालों के जरिए बांधों में पानी की आवक हो रही है।

32.6 मिमी औसत बारिश
जिले की संभावित वार्षिक औसत वर्षा 814.3 मिमी है। इस साल 1 जून से अब तक 32.6 मिमी औसत बारिश हो चुकी है, जो कि पिछले 10 साल के औसत वर्षा का 184.8 प्रतिशत है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
More than 85% water in the three dams of the district, 32.6 mm of rain in the last 14 days, which is 84 percent more than the average rainfall of the last 10 years


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2MX0W7d

0 komentar