एमए, एमकॉम व एमएससी चतुर्थ सेमेस्टर के लिए होगी परीक्षा, गाइडलाइन जल्द ही , June 11, 2020 at 06:34AM

एमए, एमकॉम, एमएससी चतुर्थ सेमेस्टर के लिए एग्जाम होगा। इस कक्षा के छात्रों को परीक्षा से छूट नहीं मिली है। इसी तरह एलएलबी, बीपीएड, बीएड, एमएड समेत अन्य कक्षाओं के भी अंतिम सेमेस्टर के छात्र भी परीक्षा की तैयारी करें।
इसके लिए जल्द गाइडलाइन जारी होगी। पं.रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय से इन कक्षाओं के अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा मई-जून में होने वाली थी। अब परीक्षा के लिए नई गाइडलाइन जारी होगी।
कुछ दिन पहले, उच्च शिक्षा विभाग से परीक्षा को लेकर एक निर्देश जारी किया गया। इसके मुताबिक सेमेस्टर परीक्षा पद्धति के अंतर्गत अंतिम सेमेस्टर काे छाेड़कर अन्य कक्षाओं की परीक्षा आयोजित नहीं होगी। रविवि से संचालित पीजी पाठ्यक्रम सेमेस्टर पद्धति से है। इसके तहत एमए, एमकॉम व एमएससी में नियमित छात्रों की पढ़ाई चार सेमेस्टर में हैं। मई-जून में द्वितीय व चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा होने वाली थी। लेकिन नए निर्देश के तहत अंतिम सेमेस्टर यानी चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। शिक्षाविदों का कहना है कि परीक्षा व प्रवेश को लेकर कुछ दिन पहले निर्देश जारी हुए। इसमें बहुत कुछ स्पष्ट नहीं है। रविवि से संचालित विभिन्न कोर्स के लिए अलग-अलग आर्डिनेंस हैं। परीक्षा से छूट के लिए आर्डिनेंस में बदलाव जरूरी है। इसके लिए तैयारी की जा रही है। वहीं दूसरी ओर रविवि समेत उच्च शिक्षा से जुड़े विभिन्न विश्वविद्यालय भी उच्च शिक्षा के नए निर्देश का इंतजार कर रहे हैं। जानकारी के मुताबिक 12 जून को समन्वय समिति की स्टैंडिंग की बैठक होगी। इसमें यह तय होगा कि आगामी परीक्षा कैसे आयोजित की जाए। किन-किन को छूट दी जाएगी।

14 मार्च तक जिन कक्षाओं की परीक्षा हो चुकी, उनका मूल्यांकन होगा
शिक्षा विभाग के अफसरों ने बताया कि रविवि की वार्षिक परीक्षा 3 मार्च से शुरू हुई। कोरोना वायरस के कारण परीक्षा स्थगित होने से पहले कई कक्षाओं की परीक्षा शुरू हो चुकी थी। इसलिए 14 मार्च तक फर्स्ट व सेकेंड ईयर के जिन विषयों की परीक्षा हो चुकी थी, उनका मूल्यांकन होगा। शेष विषयों के संबंध में आंतरिक मूल्यांकन, असाइनमेंट कार्य के आधार पर नंबर दिए जाएंगे। रविवि के अफसरों ने बताया कि पहले ही आंसरशीट का मूल्यांकन हो चुका है। उच्च शिक्षा से गाइडलाइन आने के बाद नतीजे जारी किए जाएंगे।

प्राइवेट छात्रों काे भीमिले परीक्षा से छूट
फर्स्ट व सेकेंड ईयर के नियमित छात्रों को परीक्षा से छूट दी गई है। कुछ इसी तर्ज पर प्राइवेट छात्रों को भी परीक्षा से छूट देने की मांग की जा रही है। इसी तरह अंतिम वर्ष के छात्रों को भी परीक्षा से छूट देने की मांग की गई है। मंगलवार को इसी संदर्भ में भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन के प्रदेश सचिव अरूणेश मिश्रा ने रविवि से कुलसचिव गिरीशकांत पांडेय से मुलाकात की। प्रदेश सचिव का कहना है कि छात्रों को शिक्षा की गुणवत्ता को ध्यान में रखते हुए प्रमोट करना चाहिए।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Examination will be done for MA, M.Com and M.Sc. semester, guideline soon


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3h9MUgm

0 komentar